बीजेपी नेता की गुंडई पर लेडी सीओ बोलीं ‘भाजपा के गुंडे हो, कहीं भी हिंदू-मुस्लिम दंगा करा सकते हो

नई दिल्ली/ बुलंदशहर। नेशनल जनमत ब्यूरो।

यूपी में भाजपा की सरकार बनते ही पार्टी के नेता बेलगाम होते जा रहे हैं। यूपी में भाजपा सरकार बनने के बाद से ही पार्टी से जुड़े लोगों के विवादों की खबर में लगातार इजाफा हो रहा है। जहां यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था को सुधारने की बात करते हैं वहीं दूसरी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हिदायत के बाद भी बीजेपी नेता और भाजपा कार्यकर्ता सुधरने का नाम नही ले रहे हैं। जिसका ताजा मामला यूपी के बुलंदशहर में सामने आया है.

इसे भी पढ़ें- रेप पीड़िता के लिए आगे आई एनजीओ संचालिका प्रतीक्षा कटियार पर ही पुलिस ने ठोक दिया केस

ट्रैफिक रूल तोड़ने पर काटा गया था भाजपा नेता का चालान

ताजा मामला बुलंदशहर का है, जहां ट्रैफिक रूल तोड़ने पर पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ता का चालान काट दिया। आरोप है कि इसके बाद अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं ने महिला CO श्रेष्ठा शर्मा से बदसलूकी की। इतना ही नहीं, जिन कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पकड़ा था, उन्हें भी कोर्ट परिसर से छुड़ाने की कोशिश की गई। कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिले के स्याना कस्बे में बीजेपी की जिला पंचायत सदस्य के पति प्रमोद लोधी का ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन में पुलिस ने चालान काटा था।

इसे भी पढ़ें…गांव में किसी ने नहीं सुनी पाक की जीत पर पटाखों की आवाज, पुलिस ने 15 मुसलमानों को जेल में भेजा

चालान कटने से नाराज भाजपा नेता उतर आया पुलिस से हाथापाई पर

सत्ता के नशे के में चूर भाजपा के नेता कानून को अपने हाथ में लेने से भी नहीं चूक रहे हैं। योगीराज में भाजपा नेताओं का मन इतना बढ़ गया है कि वे पुलिस वालों को भी नहीं बख्श रहे हैं. हालत ये है कि सिर्फ चालान काटे जाने के बाद भाजपा नेता और जिला पंचायत सदस्य पति प्रमोद पुलिस से भिड़ गया। बात हाथापई तक पहुंच गई। जिसके बाद पुलिस ने बाइक को सीज कर प्रमोद को गिरफ्तार कर लिया।

इसे भी पढ़ें…उन्मादी बोले, ये लोग बीफ खाते हैं इनको खत्म कर दो, 3 भाईयों पर चाकू से हमला, एक की मौत

कोर्ट में बीजेपी नेता को छुड़ाने की की गई कोशिश-

प्रमोद को जब कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया तब बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता वहां पहुंच गए और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की गई। कार्यकर्ताओं और महिला CO के बीच भी जमकर बहस हुई। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि पुलिस बीजेपी से जुड़े ही लोगों के खिलाफ कार्रवाई करती है और ट्रैफिक नियमों के नाम पर घूसखोरी की जाती है। हालांकि सीओ ने इन आरोपों की सिरे से नकार दिया।  CO ने मीडिया को बताया, “मामला चालान का था। प्रमोद के पास पूरे दस्तावेज नहीं थे। पहले उन्होंने मेरे साथ बदतमीजी की। इसके बाद दूसरे पुलिस अधिकारियों के साथ भी बदसलूकी की गई।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share