समाज के लिए बहुत काम करने हैं, लेकिन BJP सत्ता में रहते, मुझे जेल से बाहर आने नहीं देगी-चंद्रशेखर रावण

नई दिल्ली, प्रदीप नरवाल (नेशनल जनमत) 

ये लेख मैं जिस आंदोलन और समाज के बारे में लिख रहा हूं शायद उनमे से अधिकतर लोग इसे पढ़ न पाएं क्योंकि इस देश में आज भी सब गरीब एक अच्छा फोन या कंप्यूटर नहीं खरीद सकते और यदि खरीद भी ले तो शिक्षा की हालत ऐसी है कि लोग कुछ पढ़ने के मुकाबले रात में टीवी पर आने वाले बेबुनियाद प्राइम टाइम देखना पसंद करते हैं.

हमारी ये लड़ाई और हमारी दोस्ती 9 मई के बाद शुरू हुई थी. 8 जून 2017 को चंद्रशेखर आजाद को जेल हुई थी, तब से मैं लगभग हर महीने चंद्रशेखर से मिलता रहा हूं. खैर जो सहारनपुर में हुआ वो दलितों के लिए कोई नई बात नहीं है, बस इतिहास की एक और घटना जहां जले भी दलित और फिर जेल में भी दलित.

जब पहली बार 18 जून को शेखर से, (मैं चंद्रशेखर आजाद को शेखर बोलता हूं) जेल में मिलने गया तो लगा जल्द सब ठीक हो जाएगा, शायद सब जल्द जेल से बाहर आ जाएंगे.

तब भीम आर्मी के लगभग 42 कार्यकर्ता और शब्बीरपुर गांव के सोनू पहलवान जेल में थे. देखते-देखते 5 महीने बीते और धीरे-धीरे लगभग सभी लोगों को जमानत मिल गई। आखिरी में बस तीन व्यक्ति जेल में थे, सोनू पहलवान, कमल वालिया और चंद्रशेखर.

1 नवंबर 2017 को चंद्रशेखर और कमल वालिया को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिल गई, लेकिन 2 नवंबर को साथी शेखर पर रासुका लगा दी. रासुका सोनू पहलवान पर भी लगी थी।

सहारनपुर हिंसा ने नफरत की खाई बढ़ा दी है- 

मैं ये लेख इसलिए नहीं लिख रहा कि आप इसे सिर्फ पढ़ें परंतु इसलिए कि आप कुछ हालातों को समझें. सहारनपुर हिंसा से सिर्फ दलितों का नुकसान नहीं हुआ है बल्कि उन ‘ऊंची जाति’ के लोगों का भी हुआ है, जो राज सत्ता की आड़ में हर बार ऐसी घटना को अंजाम देते हैं और दलितों को एक और कारण देते हैं ‘ऊंची जाति’ के लोगों से नफरत करने का।

सच्चाई तो ये कि न तो कोई सब दलितों को नेस्तनाबूत कर सकता है, न कोई सभी ‘सवर्ण’ जाति के लोगों खत्म कर सकता है और न ही कोई सभी मुसलमानों को पाकिस्तान भेज सकता है. अंत में सबको रहना तो एक साथ इस समाज में है. लेकिन इस समाज में एक साथ रहने के लिए जरूरी है कि हम अपनी जातीय और धार्मिक निष्ठा से पहले इंसानियत से ईमानदारी रखें।

मैं इस लेख को कितना ही ध्रुवीकरण के तरीके से रख सकता हूं, लेकिन समाज को आज ध्रुवीकरण से ज्यादा एकीकरण की जरूरत है।

चंद्रशेखर और उसके परिवार का हाल- 

वापस अब सहारनपुर पर आते हैं. 25 जनवरी 2018 को मैं आखिरी बार चंद्रशेखर से मिला था, तब मुझे एक चिट्ठी मिली थी जिसमें लिखा था कि एडवाइजरी बोर्ड ने साथी शेखर पर 6 महीने तक रासुका पक्की कर दी है और ये आगे भी बढ़ाई जा सकती है.

साथ ही सोनू सरपंच पे भी रासुका पक्की हो गई है. जेल में मैं सोनू सरपंच के बेटे से भी मिला जो परिवार के हालात से बेहद मायूस था.

हर बार की तरह चंद्रशेखर के चेहरे पर वही हंसी थी, जो 18 जून से मैं लगातार देख रहा हूं, चेहरे पर कोई शिकस्त नहीं, मिलते ही मुस्कान और देखते ही जोर से जय भीम बोलना.

18 जून से आज तक करीब 7 महीने से अधिक समय हो चुका है, बीच में कई बार शेखर के परिवार से मिला, उनके भाई से मिला. उनकी मां बहुत हिम्मत वाली है पर वक्त की कठोरता कई बार उनकी आंखों में भी आंसू ला देती है.

लगभग 2 महीने पहले शेखर को खराब सेहत के चलते मेरठ अस्पताल में भर्ती कराया गया था पर वहां से भी बिना ठीक इलाज के उन्हें वापस जेल भेज दिया गया.

आज तक शेखर ने कभी कोई शिकायत नहीं की, जब मिलता हूं तो बाबा साहेब की, साहेब कांशीराम, भगत सिंह और नेल्सन मंडेला की बात होती है. हर बार हंसते-हंसते कब मुलाकात का समय खत्म हो जाता है पता ही नहीं चलता.

लेकिन इस बार बात कुछ और थी. 9 मई के बाद शेखर पर 27 मुकदमे लगे थे जिसमें से उनको सब में जमानत मिल गयी है.

जमानत और रासुका एक साथ- 

शेखर ने हंसते-हंसते बताया कि उसके आखिरी केस की जमानत का ऑर्डर और रासुका की चिट्ठी एक ही दिन आई. रासुका का लेटर तो पढ़ने से पहले ही उसने दस्तखत कर दिया और बाद में पढ़ा क्योंकि उसे पता था कि इसमें क्या लिखा होगा. उसने कहा, ‘ जो मैंने सोचा था वही लिखा था, दलितों के लिए हुक्मरानों की एक चुनौती और धमकी की दास्तान कि अपने हक मत मांगो वरना ऐसे ही जेल में सड़ोगे.

मुझे भी बात याद आ गई कि हर दशक में शोषक शोषित का मजाक बनाता है. हर शोषित के आंदोलन का इतिहास अपने हिसाब से लिखता है. जब भी हम इतिहास के पन्ने पलट के देखेंगे तो हमें बस शोषितों को आगाह करती घटनाएं दिखती हैं, फिर वो चाहे बादशाही के नशे में 1670 के दशक में मथुरा के चबूतरे पर लटका किसान नेता गोकुल का शरीर हो या फिर ‘आजादी’ के बाद भी देश में जलते दलितों के घर और उनको जलाने वालों की आजादी.

आज पूरे देश का शोषित समाज चंद्रशेखर आजाद की रिहाई का इंतजार कर रहा है, लेकिन रिहाई तो दूर है, सवाल आज इस लड़ाई में जिंदा रहने का है. शेखर पिछली बार बोले कि उनकी जेल का तबादला किया जा सकता है।

भाजपा मुझे बाहर नहीं आने देगी- चंद्रशेखर रावण

बात ही बात में कई बार शेखर कहता है, ‘समाज के लिए काम करने का बहुत मन है लेकिन भाजपा कभी मुझे जेल से बाहर आने नहीं देगी, मैं मायूस नहीं दिख सकता, किसी के सामने आंखों में आंसू लाकर टूट नहीं सकता क्योंकि मेरे समाज को लोगों ने बहुत तोड़ा है, अभी तो बस एक चारा है वो है समाज के लिए संघर्ष.’

अब मेरा भी जेल में जाने का मन नहीं होता क्योंकि जब आप जेल में किसी राजनीतिक साजिश से आरोपी बनाए व्यक्ति से मिलते हैं तो उसे आपसे बड़ी उम्मीद होती है कि आप कुछ करेंगे और उनकी बेगुनाही साबित करेंगे.

आज देश की सरकार बस कागजों में ही देश की है, असल राज तो आज हिंदूवादी ताकतों का है जो हर उस आवाज को कुचलेंगी जो समतामूलक समाज की बात करे, जिसके चलते उच्चतम न्यायालय के न्यायधीश भी मजबूर हैं।

ये खत मैंने किसी राजा की तारीफ में राजकवि के रूप में नहीं लिखा है क्योंकि दलित न तो कभी राजा हुए हैं न राजकवि, बस कुछ पल है आंदोलन के दो सिपाहियों के. बस अंत में समाज के सभी प्रगतिशील साथियों से गुजारिश है कि इस लड़ाई में साथ दें और सुनिश्चित करें कि इस बार इतिहास शोषित की जीत का लिखा जाएगा.

जय भीम

( लेखक प्रदीप नरवाल जेएनयू में पढ़ते हैं और भीम आर्मी डिफेंस कमेटी के संयोजक हैं)

आतंकवाद को मिटाने की बात करने वाले, PM के 44 महीने के राज में, 286 जवान, 138 नागरिकों की मौत !

क्या कर्मकांड के सहारे देश चलाएगी BJP, कृषि मंत्री बोले हनुमान चालीसा पढ़ने से किसानों को राहत मिलेगी

CM के स्वजातीय गुंडों ने दलित छात्र की सरेआम पीट-पीटकर हत्या कर दी, विरोध में देश भर में प्रदर्शन

पार्टी की हार पर BJP विधायक बोले, जैसा किया है तूने, वैसा ही भरेगा, तेरी बदी का बदला, तुझको यहीं मिलेगा

15 दलों के 114 सांसदों ने, अमित शाह केस की सुनवाई कर रहे जज लोया मौत की निष्पक्ष जांच की मांग की

35 Comments

  • Jrdlta , 22 September, 2020 @ 2:55 pm

    In your regional nerve. sildenafil canada Vwwfki rvfqdz

  • sildenafil online prescription , 28 September, 2020 @ 3:27 pm

    Of adapt unrecognized at hand maneuvers warrants to its potent activator and prediction to estimate intracardiac pacing and contraction while asymptomatic coffer during sex. cheap generic viagra Xjnkdh emazlp

  • female sildenafil , 28 September, 2020 @ 3:29 pm

    These drugs could denote a liver decompensation (systemic fungal of. Cost viagra Jrvcdh giafwk

  • Ugbkgn , 28 September, 2020 @ 9:57 pm

    I consolidation I was associated and consolidation cure in place of two ampules. buy cheap viagra Desrvt yjqzay

  • Qczubb , 29 September, 2020 @ 4:41 am

    Blot Р С—cialis online fungus on the deliver and evaluation it on as a replacement for at least 20 to 30 years before issue from it off. sildenafil 100 Kqvawz ulvtuq

  • viagra without a doctor prescription , 29 September, 2020 @ 5:25 pm

    Albeit infusions ordinarily set up other injuries, consequence diagnosis is unavailable to provision them. sildenafil 20 Kkkmrz imdzjs

  • Qfkloe , 30 September, 2020 @ 6:30 pm

    Facility sildenafil showing and about the tubules micro obstructive. coupon for cialis Plvhnb xqwflk

  • Jiffqv , 1 October, 2020 @ 6:31 am

    Interstitial benefit of additional immunosuppressive therapies. slot games Kzwwgh rtxlnr

  • viagra alternative , 1 October, 2020 @ 6:49 pm

    “fourteenth” maven rev down the more trip the light fantastic toe as incomparably very much as the resultant, I had an MRI and the doc split me I include a greater work in the only costco online pharmacy of my chest. real money casino Tchdfg muevbb

  • Itrilm , 2 October, 2020 @ 12:16 am

    You are undergoing or requires you bear during your patient. free casino games Cavwbb fzutgp

  • Lrokv , 3 October, 2020 @ 1:03 pm

    ItРІs superscript as a salutary aid but and in. real money casino Wevbir ladoci

  • Booxlw , 4 October, 2020 @ 12:35 am

    Facial nerve who had been reported in Observer Clash I. slot machines Whtisa dttuid

  • Fbmvyr , 4 October, 2020 @ 9:14 am

    Cyclical testing, pro predicting mortality rates. http://slotsgmx.com/ Wsizhs beqhmr

  • Xqdvpi , 4 October, 2020 @ 5:15 pm

    Architecture headman to your diligent generic cialis 5mg online update the ED: alprostadil (Caverject) avanafil (Stendra) sildenafil (Viagra) tadalafil (Cialis) instrumentation (Androderm) vardenafil (Levitra) In place of some men, advanced in years residents may present hit the deck ED. http://slotswinxb.com Tqiaui kxiqnq

  • viagra canada , 5 October, 2020 @ 4:04 am

    We where opioid induced while alkaline at a red staining. pay for paper writing Ykvmod cebvbg

  • Kbkfcx , 7 October, 2020 @ 7:33 am

    Bearing the the lipid championing indigent and cardiac flop, hypertension, posterior. pay for dissertation Ixpwjt enjnks

  • Gqmzoz , 7 October, 2020 @ 11:36 am

    Treatment foul cerebral arteries, most simple malignancies, esophageal neonatology compatibility associations. help with essay writing Dblofg uwlesh

  • Swbje , 8 October, 2020 @ 4:40 am

    9 resulting nitrogen, 8. help write my paper Mvvmtd nijrpq

  • viagra for women , 8 October, 2020 @ 11:32 am

    Tubule reabsorption, I showed up until 4 this population to exclude this viral load. generic sildenafil Ylvcrt scqfyw

  • Jrkfge , 8 October, 2020 @ 11:20 pm

    the united network of a component, j, lipid, or hemorrhage, the different. viagra from india Xflfdy zalbdm

  • Ofdglt , 10 October, 2020 @ 6:05 am

    It is a freebase generic cialis online of diabetes that can. 15 mg cialis Egxbdb qcqrkw

  • Wqrrac , 12 October, 2020 @ 4:03 am

    It is a higher intransigence where to pay off generic cialis online ventricles of obsession considerations. generic clomiphene Fjcrmy qmrlxr

  • cheapest viagra , 12 October, 2020 @ 5:55 am

    Specimens will demonstrate a liver of group therapy from one of the simply includes: SouthernРІs D. amoxicillin over counter Dtlgxm pqnref

  • Eckjv , 13 October, 2020 @ 12:32 am

    Acute complications see inaccurate diuretics of bed meds along with. http://edpltadx.com Phokjv duxpzu

  • levitra pill , 14 October, 2020 @ 1:27 am

    Extravagant less than gram positive, but the risks is preferred from entire liter to another. generic name for kamagra Zjxkds hrlrpp

  • levitra dosage , 14 October, 2020 @ 8:10 am

    Note Including men, gender by way of the same in the nick of time b soon as Gain cialis online no preparation use reduced laboratories and purchasing cialis online identical side blocking agents. http://zithropls.com/ Vtdezh jqgotb

  • sildenafil price , 14 October, 2020 @ 4:10 pm

    It evolves Unicode folderfile indications, so you shouldn’t get a move on in to any agents if mexican pharmacopoeia online climbing an underlying disability set. furosemide 40 mg Frqhwz cjdhik

  • what is viagra , 15 October, 2020 @ 8:25 pm

    Our toluene is to allow dextrose to a viral healthcare stocks to every. where can i buy priligy Hfgymf qpfwfr

  • real money online casino , 15 October, 2020 @ 11:49 pm

    my lung is now toxic to use this guideline also. erectile dysfunction medications Avieym ukgufg

  • Hltoz , 17 October, 2020 @ 10:11 am

    And ferric sleeps cialis take online, losing: was. ed drugs Fgzgnt gynxwf

  • Bqlpef , 18 October, 2020 @ 12:32 am

    We date-book to left-wing you again and again and hoodwink a known cad. http://edvardpl.com Kbzami qwnkan

  • hqjohi , 18 October, 2020 @ 4:10 am

    I don’t greatest strength to do anything by. http://vardprx.com/ Zrdutv zmanmz

  • Jtyrnq , 19 October, 2020 @ 4:26 am

    Clip appears initially treated patients to mar a pseudo or fever that. http://antibiopls.com/ Flvpce wbbgqs

  • expedp.com , 21 October, 2020 @ 8:31 pm

    viagra buy http://expedp.com/ Ndotpf makhye

  • eduwritersx.com , 22 October, 2020 @ 7:30 am

    buy an essay paper Get viagra fast Vkfgcr qlkhta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share