You are here

किसानों की मौत पर बोले नरेश उत्तम पटेल बीजेपी कुर्मी, किसान और पिछड़ों की विरोधी है

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

मध्यप्रदेश में किसानों पर बरसाई गई गोलियों की आग पूरे देश में फैल गई है. शिवराज सरकार इस समय विपक्षी दलों के निशाने पर है. विपक्षी दलों के अलावा सामान्य लोग भी अपने-अपने ढ़ंग से विरोध दर्ज करा रहे हैं. अब समाजवादी पार्टी ने एक बयान जारी कर बीजेपी को किसान विरोधी पार्टी कहा है.

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने मध्य प्रदेश के मंदसौर में मारे गए पाटीदार किसानों की मौत पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि किसानों की हत्या करवाई गई है शिवराज सरकार द्वारा. जो किसान मारे गए हैं उनमें पांच लोग पाटीदार समुदाय से हैं. लगता है बीजेपी पूरे देश में कुर्मी, पाटीदारों, पटेलों, कुन्बियों और मराठाओं को मिटाने में लग गई है.

इसे भी पढ़ें-जानिए सीएम के विशेष सचिव बने आईएएस नीतीश कुमार को क्यों कहते हैं लाइब्रेरी मैन

बीजेपी का विकास का मॉडल मानव का नहीं जानवरों का है- 

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राजनीतिक तौर पर बीजेपी की मानसिकता कुर्मी, पाटीदार, किसान, अहीर, काछी, माली, गड़रिया, कुन्बी, मराठा जैसी खेतिहर जातियों के खिलाफ ही रही है. बीजेपी इनकी जड़ों पर प्रहार करती है. इसलिए समाजवादी पार्टी कहती है कि बीजेपी किसान विरोधी पार्टी है. बीजेपी नेता सिर्फ लच्छेदार बातें करना जानते हैं . उनका विकास का मॉडल मानवों का ना होकर जानवरों का है.

इसे भी पढ़ें- शिवराज सरकार की गोलियो से मरे किसानों में 5 पाटीदार, हार्दिक ने कहा पटेल विरोधी है बीजेपी

इसलिए समाजवादी पार्टी मांग करती है कि मारे गए किसानों के परिवार का मुआवजा और बढ़ाया जाए और हर घर से एक नौकरी दी जाए. इसके अलावा किसानों की सभी मांगें जायज हैं उनको माना जाए. जिससे ये आंदोलन खत्म हो सके और अब कोई बेगुनाह किसान इस आंदोलन की भेंट ना चढ़ें.

इसे भी पढ़ें-तो क्या नोटबंदी के बेतुके फैसले से बर्बाद हुई मंडियों का दुष्परिणाम है किसान आंदोलन

Related posts

One Thought to “किसानों की मौत पर बोले नरेश उत्तम पटेल बीजेपी कुर्मी, किसान और पिछड़ों की विरोधी है”

  1. 224604 326395I needs to spend a while studying more or working out more. Thank you for great information I used to be looking for this information for my mission. 810082

Leave a Comment

Share
Share