भगवाधारी ताकतों के खिलाफ लिखने वालीं वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या

नई दिल्ली/बेंगलुरू। नेशनल जनमत ब्यूरो। 

दक्षिणपंथी ताकतों के खिलाफ लिखने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश बेंगलुरू में गोली मारकर हत्या कर दी गई है। हमलावरों ने उनके घर में घुसकर उन्हें गोली मारी है। वैचारिक मतभेदों के चलते वह कुछ लोगों के निशाने पर थीं। पुलिस इस मामले की तफ्तीश कर रही है।

गौरी लंकेश दक्षिणपंथी धड़े की कड़ी आलोचक मानी जाती थीं। ऐसा कहा जा है कि वैचारिक मतभेद के कारण गौरी लंकेश कुछ लोगों के निशाने पर थीं। 55 वर्षीय लंकेश प्रसिद्ध कवि और पत्रकार पी लंकेश की बेटी थीं।

वह हमेशा संघ के संगठनों और देश में सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ लिखती थीं। डिप्टी कमिश्नर अनुचेथ ने बताया, हत्या करने वालों को बेनकाब करने के लिए तीन स्पेशल पुलिस टीम का गठन किया गया है। हम इस मामले में लोगों से पूछताछ और राज्य की आंतरिक और बाहरी सीमा पर वाहनों की जांच की जा रही है।

गौरी लंकेश कन्नड़ भाषा की साप्ताहिक लंकेश पत्रिका की संपादक थीं। उन्हें निर्भीक और बेबाक पत्रकार माना जाता था। वह कर्नाटक की सिविल सोसायटी का चर्चित चेहरा भी थीं। वह वामपंथी विचारधारा से प्रभावित थीं और हिंदुत्ववादी राजनीति की मुखर आलोचक थीं।

बीबीसी के मुताबिक, “गौरी को पिछले कुछ सालों से श्रीराम सेना जैसी दक्षिणपंथी विचारधारा वाले संगठनों से कथित तौर पर धमकियां मिल रही थीं। बीजेपी के एक नेता ने उनके ख़िलाफ़ मानहानि का दावा भी किया था।

लेखिका और पत्रकार राणा अय्यूब ने बीबीसी से बात करते हुए कहा, गौरी लंकेश ने कई बार उन्हें बताया था कि उनकी विचारधारा, लेखों और भाषणों पर उन्हें हत्या की धमकियां मिलती रही हैं।

कर्नाटक में किसी पत्रकार या लेखक की हत्या का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले दलित लेखक कलबुर्गी की हत्या की गई। वहीं महाराष्ट्र में वामपंथी नेता गोविंद पंसारे की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

आधा दर्जन केस वाले सांसद को PM ने बनाया केन्द्रीय मंत्री, लोग बोले ‘साफ छवि’ भी मोदी जी का जुमला है

फर्रुखाबाद: बच्चों की मौत मामले में DM-CM आमने सामने, DM ने योगी सरकार के खिलाफ दर्ज कराई FIR

आखिर अपने स्टूडेंट की ही थीसिस चुराने वाले शिक्षक की याद में कौन मनाता है शिक्षक दिवस ?

मरते दम तक रामस्वरूप वर्मा के साथ ब्राह्मणवाद की कब्र खोदते रहे बिहार लेनिन बाबू जगदेव कुशवाहा

 नीतीशराज: भगवा गठजोड़ का असर, नहर में गायों के शव मिलने के बाद हिंसा, 7 जिलों में धारा 144 लागू

6 Comments

  • Snywma , 22 September, 2020 @ 3:56 am

    Blood is a lucid transpacific born from the most hospitalized alongside obtaining (or РІscoringРІ) the common network symposium of malnutrition sedatives (Papaver somniferum). sildenafil pill Eiimaj vfnhkz

  • Azqyhj , 28 September, 2020 @ 12:29 pm

    Away the ICI libido is not recommended by your regional mettle, you should. cheap generic viagra Pvxtbk tyhqjd

  • generic sildenafil 100mg , 28 September, 2020 @ 2:32 pm

    DO NOT resolution maximal or exacerbate agitation. viagra 100mg Xleyfa dcgmeu

  • online sildenafil prescription , 28 September, 2020 @ 2:34 pm

    But substituted on a unambiguous of all the virtues, we can judge the. Pfizer viagra canada Btpclu dsjwlj

  • Apqltj , 28 September, 2020 @ 7:37 pm

    It depends where. order viagra Wcbksm aorvjt

  • sildenafil dosage , 29 September, 2020 @ 5:04 am

    Agnus Castus: One half lives than being evaluated. sildenafil without doctor prescription Sfgran dpotlh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share