लालू की नीतीश को सलाह, भाजपा के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन न करें

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा आगामी राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन करने की घोषणा से बिहार की राजनीति गर्मा गई है. राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोवंद का समर्थन न करने का आग्रह किया है. न्यूज एजेंसी एएनआई ने एक ट्वीट जारी करते हुए लालू के बयान को लिखा कि मैं नितीश कुमार से बात करुंगा. नीतीश कुमार एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को अपना समर्थन देकर ऐतिहासिक गलती न करें.

इसे भी पढ़ें…राजस्थान, भाजपा सरकार डॉक्टरों से पूछ रही है किस जाति-किस धर्म के हो

लालू प्रसाद यादव ने आगे कहा, ‘नीतीश जी ने मुझे बताया था कि रामनाथ कोविंद को समर्थन देना उनका निजी फैसला है.’ बिहार में महागठबंधन टूटने के सवाल पर राजद अध्यक्ष ने कहा कि यह नहीं टूटेगा. पर फिर भी नैतिकता के आधार पर विपक्षी पार्टियों का समर्थन करना चाहिए और बिहार की बेटी मीरा कुमार को समर्थन देना चाहिए हालांकि, जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा है कि उनकी पार्टी विपक्ष का हिस्सा है, लेकिन रामनाथ कोविंद का मामला अलग है.

इसे भी पढ़ें…देश भर में उठने लगी जस्टिस कर्णन के समर्थन में आवाज, तमिलनाडु के बाद हैदराबाद में प्रदर्शन

नीतीश द्वारा भाजपा के उम्मीदवार का समर्थन करने पर सोशल मीडिया पर हो रही नीतीश की खिचाई- 

नीतीश कुमार द्वारा भाजपा के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोबिंद के समर्थन किए जाने से सोशल मीडिया पर कई सामाजिक चिंतकों ने नीतीश की खिचाई की है. वरिष्ठ पत्रकार औऱ सामाजिक चिंतक सत्येन्द्र पीएस अपनी फेसबुल वॉल पर लिखते हैं कि ‘ कांग्रेस की अगुआई में जिस तरह से 17 दलों ने मीरा कुमार को उतारा है, और नीतीश कुमार ने जिस तरह बीजेपी प्रत्याशी को समर्थन दिया है, उससे यही लगता है कि नीतीश अब खत्तम हैं।

इसे भी पढ़ें…दलित कहकर राष्ट्रपति बनाना दलितों की योग्यता नहीं बल्कि ब्राह्मणवाद की श्रेष्ठता स्थापित करना है

वह मुलायम सिंह की गति को प्राप्त कर गए हैं। उनका राजनीतिक मस्तिष्क काम करना बंद कर चुका है और वो राजनीति समझने की क्षमता खो चुके हैं। विपक्ष में उनकी पकड़ नहीं, जिससे पता चले कि वह क्या करने वाला है। सत्ता पक्ष के साथ अनावश्यक ले दही ले दही करके नाक घुसाड़े हुए हैं. उनके समर्थकों या उनसे थोड़ा बहुत उम्मीद रखने वालों को अब दूसरे किसी नेता पर दांव लगाना चाहिए।’

1 Comment

  • GVK Biosciences , 14 July, 2017 @ 6:43 pm

    462177 485632This website is truly a walk-through for all of the info you wanted about it and didnt know who to question. Glimpse here, and youll definitely discover it. 798421

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share