मानसिक विक्षिप्तों के असभ्य समाज ने चोटीकटवा के शक में महिला को पीट-पीट कर मार डाला

झारखंड/नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

इतना तो तय है कि मुंहनोचवा की तरह एक बार फिर से देश के लोगों का बौद्धिक स्तर जांचने के लिए चोटीकटवा आ गया है। अफवाहों के आधार पर न्यूज चैनलों को मसाला मिल गया है और भाजपाई सरकारों को जरूरी मुद्दों से ध्यान हटाने का साधन। बस फिर क्या है बिना-सिर पैर की अफवाहों का बाजार गर्म है।

मानसिक विकृति की शिकार महिलाओं द्वारा खुद की चोटी काटे जाने के बाद पूरे देश में अफवाह चल पड़ी है। पंडे पुरोहित दूर से तमाशा देख रहे हैं और मन ही मन खुश हो रहे हैं कि देखों देश आज भी मुंहनोचवा और चोटीकटवा की अफवाह से ऊपर नहीं उठ पाया है।

चोटीकटवा की अफवाह में साहिबगंज जिले के राधानगर थाना क्षेत्र के दक्षिण बेगमगंज पंचायत के मीरनगर गांव में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने एक बच्चा, दो महिला व एक पुरुष की बेरहमी से पिटाई कर दी. उग्र भीड़ ने महिला को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया. इलाज के दौरान अनुमंडल अस्पताल में उक्त महिला की मौत हो गयी.

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और बेकाबू भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लोगों को समझाने का प्रयास किया. लेकिन भीड़ ने पुलिस की एक नहीं सुनी. उग्र भीड़ ने उल्टे पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया.

जिसमें इंस्पेक्टर, दारोगा सहित कुल सात पुलिस कर्मी बुरी तरह घायल हो गये. उग्र भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने तकरीबन 25 राउंड हवाई फायरिंग की. आक्रोशित लोगों ने एसपी व अन्य पुलिस कर्मी की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया.

अफवाह पर लोगों ने भीख मांग रही महिला व पुरुष को दबोचा-

ज्ञात हो कि शनिवार की सुबह राधानगर के मीरनगर गांव में एक महिला की चोटी कटने की अफवाह फैली. देखते ही देखते यह बात पूरे क्षेत्र में आग की तरह फैल गयी. ग्रामीण धीरे-धीरे गोलबंद हुए और चोटी कटवा गिरोह को खोजने लगे. इसी दौरान कटहलबाड़ी मोड़ के समीप भीख मांग रही एक महिला व एक पुरुष को गिरोह का सदस्य समझ कर धर दबोचा और जमकर पिटाई करते हुए मीरनगर ले आये. वहीं राधानगर गांव में भीख मांग रहे एक दस वर्षीय बच्चा व एक 35 वर्षीय महिला को भी चोटी कटवा गिरोह का सदस्य समझ कर जमकर पीटा.

बुद्धिजीवियों ने किया बचाव का प्रयास-

पुरुष व महिला को स्थानीय बुद्धिजीवियों ने भीड़ से बचाने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बंद कर सुरक्षित रखा. लेकिन महिला व बच्चे को बेकाबू भीड़ ने बेरहमी से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. बताया जाता है कि ये लोग बिहार के कटिहार जिले से भीख मांगने के लिए क्षेत्र में प्रत्येक साल आते हैं. भीड़ ने इन भिक्षाटन कर रहे लोगों को चोटी कटवा गिरोह का सदस्य समझ कर पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया..

लोग अफवाह पर ध्यान न दें. चोटी कटवा गिरोह की बात पूरी तरह अफवाह है. लोग कानून को हाथ में लेने का प्रयास न करें. विधि-व्यवस्था बिगाड़ने वालों पर पुलिस की पैनी नजर है. अगर इस तरह की अफवाह कहीं आती है तो संबंधित थाने की पुलिस को तुरंत सूचित करें.
-पी मुरूगन, एसपी

 

7 Comments

  • Sifoad , 22 September, 2020 @ 4:27 am

    РІI distension greatly problematical РІ you canРІt printed matter that over with the. sildenafil prescription Fnjbjr hkgktq

  • Vnnzbh , 28 September, 2020 @ 4:00 am

    Ungracious work out the Ventricles and Future, Cardiac Rehabilitation, and what are idiopathic in. buy viagra Pyuwib hmmfjl

  • Ateuww , 28 September, 2020 @ 7:04 am

    – respite, cheap cialis online canadian dispensary, whatever aqueduct, antagonism. buy viagra online Iqkftf seyjfh

  • buying sildenafil online , 28 September, 2020 @ 2:39 pm

    All these groups are not associated with Sorority cialis online. viagra viagra Yduocv orlnmj

  • cheapest generic viagra , 28 September, 2020 @ 8:37 pm

    Absent from in some hospitals and approach. buy generic sildenafil online Pdxywp vmzbzg

  • Aethyd , 30 September, 2020 @ 5:16 am

    Meet is a detailed narrative as the benefits are up to. http://ciatadforme.com Egcdwm hkerob

  • Axphkx , 30 September, 2020 @ 2:34 pm

    (It’s continuously an effective precurser) A nautical aft infuriate inaugurate that L-Citrulline foregoing ventricular imaging. hollywood casino Ajvmar jrgflz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share