हिन्दु धर्म छोड़ने की धमकी देते हुए मायावती बोलीं, CM को मंदिरों से फुर्सत मिले तब तो विकास करेंगे

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

अपना मूल वोट बैंक बिखरता देख धरातल पर संघर्ष ना सही बसपा अध्यक्ष मायावती मंचों से भाषण देकर उसे एकजुट बनाए रखना चाहती हैं। बीते कुछ दिनों से मायावती लगातार पार्टी की रैलियों में हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध बन जाने की धमकी देती देखी जा रही हैं। अपने मुख्य एजेंडे पर लौटते हुए फिर से जातिगत भेदभाव का मुद्दा उठा रही हैं।

मंगलवार को मायावती उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में थीं यहां एक बार फिर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने रैली में हिंदू धर्म छोड़ने की धमकी दी है। उन्होंने कहा है कि वह शंकराचार्य, भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को हाशिए पर पड़े समाज के सुधार के लिए एक मौका देंगीं। अगर वे इसमें नाकाम रहे, तो फिर वह अंबेडकर के रास्ते पर चलेंगी।

बसपा अध्यक्ष ने इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी तंज कसा। वह बोलीं कि वह (योगी) तो मंदिरों में पूजा से फुर्सत मिलने के बाद ही विकास पर ध्यान देंगे।

वह यहां ‘रानी की सराय’ में आजमगढ़, वाराणसी और गोरखपुर के बसपा समर्थकों को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा, “धर्म बदलने से पहले मैं शंकराचार्यों, हिंदू धर्म से जुड़ी संस्थाओं और भाजपा-आरएसएस को एक मौका दूंगी, ताकि वे दलितों, आदिवासियों, पिछड़े वर्ग और धर्म बदलने वाले लोगों के खिलाफ समाज में जारी कुप्रथाएं और अत्याचार को खत्म करें।

अगर वे इसमें नाकाम हुए, तो फिर मेरे पास अंबेडकर के रास्ते पर चलने के सिवाय और कोई रास्ता नहीं है। यही नहीं, मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने नोटबंदी, वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और चुनाव से पहले किए गए पीएम द्वारा एक चौथाई वादों को न पूरा कर पाने के लिए पीएम मोदी की आलोचना की।

मायावती के भाषण पर राजनीतिक विश्लेषक अनूप पटेल लिखते हैं कि बहनजी आजकल हर रैली में ये चेतावनी देती है कि वो बौद्ध धर्म स्वीकार कर लेगी। क्या लगता है बहनजी किसको सुना रही है!

शायद दो लोगों को सुना रही है!
१- भाजपा को।
२- RSS को।

दलितों को कोई दिक़्क़त नहीं है बहनजी के बौद्ध धर्म स्वीकार करने पर। एक बाबासाहेब थे जिन्होंने एक ही बार ऐलान करने के बाद लाखों लोगों के साथ बौद्ध धर्म अंगीकार किया था।

फिल्म में GST-नोटबंदी पर सवाल उठाने से हो गईं BJP की भावनाएं आहत, अभिनेता पर दर्ज कराया केस

अब तक के सबसे ‘भाषणवीर’ PM साबित हुए नरेन्द्र मोदी, 3 साल में दिए 30 मिनट से ज्यादा के 775 भाषण

गुजरात में बदलते मूड के संकेत: अब महिला कार्यकर्ता ने रोड शो के दौरान PM मोदी पर फेंकी चूड़ियां

देशभक्ति साबित करने के लिए सिनेमाघरों में राष्ट्रगान पर खड़ा होना ज़रूरी नहीं- सुप्रीम कोर्ट

राजस्थान: अपनी ही सरकार के खिलाफ BJP विधायक का बिगुल, बोले विधेयक लोकतंत्र का गला घोंटने वाला

राजस्थान के रामराज्य में नेताओं-अफसरों को FIR से बचाने की अनोखी तरकीब निकाली बीजेपी सरकार ने

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share