पाकिस्तानी टीम को बधाई देना ‘देशद्रोह’ है तो फिर आपकी नजर में सहवाग भी ‘देशद्रोही’ हैं?

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी मैच होता है तो भारतीय मीडिया और बाजारू राष्ट्रवादी इस खेल को खेल न रहने देकर इसे युद्ध की संज्ञा दे देते हैं. इसके अलावा न्यूज चैनलों पर भविष्यवाणी करने वाले कुछ पाखंडी लोगों को भी बुलाकर भारतीय जनमानस में भाग्यवाद और पाखंड का बीज बोया जाता है.

शनिवार को चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के हाथों भारत की शर्मनाक हार पर चैनल पर बैठने वाले पाखंडी भविष्य वक्ताओं को जबाब जरूर देना चाहिए . जो ये कह रहे थे आज विराट की कुंडली में जीत का योग है. इतना ही नहीं अब जब उनका ड्रामा नहीं चल पाया तो सोशल मीडिया से लेकर हर जगह माहौल बनाया जा रहा है कि जो पाकिस्तान को बधाई देगा वो देश का गद्दार है.

इसे भी पढ़ें-हॉकी टीम की सफलता से खुश राजकुमारी कुशवाहा ने फिर कहा पिता ध्यनचंद को जल्द मिले भारत रत्न

अच्छा खेलने की बधाई देना क्या देशद्रोह है- 

इसे भी पढ़ें- जेएनयू में उठी क्रिकेट में हिस्सेदारी की मांग, छात्रों ने कहा सवर्णों के बस का नहीं है मेहनत का खेल

ऐसे कई पार्टी समर्थित क्षणिक देशभक्तों ने अपने ट्विटर से लेकर फेसबुक पर पाकिस्तान को अच्छे खेल की बधाई देने वालों को देशद्रोही कहना शुरू कर दिया. इसी बीच चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान की जीत को लेकर कई सेलीब्रिटीज ने भी ट्वीट किए हैं. पाकिस्तान को लेकर ‘बाप-बेटा’ वाला बयान देने वाले वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट कर पाक टीम को बधाई दी. उन्होंने लिखा, आज की बड़ी जीत पर पाकिस्तान टीम को बधाई. आपने अच्छा खेला और जीत के हकदार हैं. पाकिस्तान क्रिकेट के लिए बढ़िया परिणाम. अब सवाल ये है कि अच्छे खेल  की बधाई देना क्या देशद्रोह है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share