3 साल में सबसे निचले पायदान पर GDP के आंकड़े आने के बाद PM मोदी बोले अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटी

नई दिल्ली/ वडोदरा, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चुनावी भाषणों को जुमलेबाजी कहने वालों की तादात सोशल मीडिया पर बढ़ती जा रही है। ऐसे में पीएम साहब अपने अनोखे भाषणों से खुद ही हंसी के पात्र बनते रहते हैं। अब एक बार फिर मोदी जी के अर्थव्यवस्था पर दिए भाषण का सोशल मीडिया पर मजाक बनाया जा रहा है।

दरअसल भारतीय रिज़र्व बैंक ने हाल ही में कहा था कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घटकर तीन साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। वर्तमान समय में वृद्धि दर फिलहाल 5.7 प्रतिशत पर है, लेकिन इसके उलट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दावा है कि ‘कठोर सुधारों के बाद अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटी है और सही दिशा में आगे बढ़ रही है.’

10 साल में दीपावली पर सबसे कम कारोबार-

खुदरा कारोबारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने दावा किया है कि इस दीपावली बिक्री में पिछले साल की तुलना में 40 प्रतिशत की गिरावट आई है और व्यापार के लिहाज से यह पिछले 10 सालों की सबसे सुस्त दीपावली रही.

नोटबंदी और नई माल एवं सेवाकर व्यवस्था यानी जीएसटी लागू करने के बाद लगातार अर्थव्यवस्था में गिरावट की बात कही जा रही है. इसे लेकर विपक्ष लगातार सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना कर रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आलोचकों को पहले नकारात्मक सोच वाला बताया था. रविवार को एक बार फिर उन्होंने जोर दिया कि कठोर सुधारों के बाद अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटी है और सही दिशा में आगे बढ़ रही है.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमने कड़े फैसले लिए हैं और ऐसा करना जारी रखेंगे.’ गुजरात चुनाव की तिथियों की घोषणा नहीं किए जाने की आलोचना पर मोदी ने कहा कि विपक्ष के पास कहने के लिए कुछ नहीं है, इसलिए वे चुनाव आयोग और मेरी गुजरात यात्रा पर सवाल उठा रहे हैं.

प्रधानमंत्री की एक महीने में यह तीसरी गुजरात यात्रा है और यह ऐसे समय में हुई है जब चुनाव आयोग द्वारा गुजरात विधानसभा चुनाव की घोषणा नहीं होने के कारण उन्हें कांग्रेस सहित विपक्ष की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.

गुजरात दौरा है कांग्रेस के निशाने पर- 

रविवार को प्रधानमंत्री ने घोघा, दाहेज और वडोदरा तीनों स्थानों पर जनसभा को संबोधित किया. वडोदरा में प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मैंने 3650 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. यह मेरे लिए सम्मान की बात है.

उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास कहने के लिए कोई बात नहीं है, इसलिए ऐसे लोग चुनाव आयोग पर निशाना साध रहे हैं और मेरी गुजरात यात्रा पर सवाल उठा रहे हैं. ये वही लोग हैं जो तब राज्यसभा चुनाव जीते जब चुनाव आयोग ने वोटों की पुन: गणना करने की अनुमति दी.

प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय में सामने आया है कि जब विपक्षी दल नोटबंदी और जीएसटी के मुद्दे पर सरकार पर निशाना साध रहे हैं.

मोदी ने अपनी यात्रा के दौरान कारोबारियों तक पहुंच बनाने का प्रयास करते हुए कहा कि अगर वे जीएसटी की व्यवस्था में अपना पंजीकरण कराते हैं और औपचारिक अर्थव्यवस्था का हिस्सा बनते हैं तो मैं आश्वस्त करता हूं कि किसी अधिकारी को पिछले रिकॉर्ड को खोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी हाल के गुजरात दौरे के दौरान अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं.

सवानी ने कहा कि उन्‍हें बीजेपी में शामिल होने के लिए रुपयों की पेशकश नहीं की गई थी। उन्‍होंने कहा, ‘अब मैंने इस्‍तीफा दे दिया है क्‍योंकि वे सिर्फ लॉलीपॉप दे रहे हैं, कोई वादा नहीं पूरा कर रहे।’

हार्दिक के करीबी निखिल सवानी ने छोड़ी BJP, बोले पाटीदारों नेताओं को 1 करोड़ ऑफर कर रही है पार्टी

झारखंड के रामराज में ‘भुखमरी’ से मरने वाली लड़की की मां की मदद की जगह मारा पीटा

गुजरात: BJP को जिन 3 युवा तुर्कों का है खौफ, राहुल गांधी ने तीनों की तरफ बढ़ाया दोस्ती का हाथ

मौर्य काल से लेकर ब्राह्मणराज की स्थापना तक, शत्रु की हत्या के जश्न में दीप जलाने का रिवाज है ?

राजस्थान के रामराज्य में नेताओं-अफसरों को FIR से बचाने की अनोखी तरकीब निकाली बीजेपी सरकार ने

गुजरात में BJP का प्लान B: भूख, बेरोजगारी, मंहगाई के जवाब देने के बदले पूरी राजनीति को धर्म से रंग दो

AU छात्र संघ: समाजवादी छात्रसभा की जीत सामाजिक न्याय की जीत है, 1 यादव, 1 पटेल, 1 दलित, 1 ठाकु

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share