JNU के आजादी चौक से छात्रों ने भरी हुंकार, हमें नहीं संघी कुलपति को जाना होगा वि.वि. से बाहर

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

छात्रों के हितों की आवाज उठाने जेएनयू के छात्र संघ अध्यक्ष मोहित कुमार पांडेय और  सामाजिक न्याय के लिए लड़ रहे दिलीप यादव जैसे छात्रो को रजिस्ट्रेशन से रोके जाने के जवाहर लाल नेहरू वि.वि. प्रशासन के फासीवादी रवैये के खिलाफ आज न्याय पंसद छात्र-छात्राओं ने जेएनयू के आजादी चौक पर प्रदर्शन किया।

इस दौरान छात्रों न आरोप लगाया कि कुलपति जातिवादी और तानाशाही मानसिकता से ग्रसित हैं और अपने संघी आकाओं को खुश करने के लिए कैम्पस में संघवाद की राजनीति खेल रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-JNU वीसी की तानाशाही के खिलाफ लखनऊ वि.वि. में प्रदर्शन, संस्थानों का भगवाकरण करने का आरोप

जेएनयू प्रशासन के खिलाफ आज जमकर हल्ला बोलते हुए, सैकड़ों स्टूडेंट्स से आज जेएनयू के आज़ादी चौक पर उतरकर कहा कि जेएनयू प्रशासन नियमों का साफ़ उल्लघन करते हुए जेएनयूएसयू अध्यक्ष और दिलीप को रजिस्ट्रेशन नहीं दे रहा है.

अगर जेएनयू प्रशासन इतना पाक साफ़ है तो उस नियम को सबके सामने रखे जिसमें लिखा है कि फाइन न भरने की स्थिति में विद्यार्थी होने का अधिकार भी छीन लिया जाएगा। इसके अलावा कम से कम 5 छात्रों का रिजल्ट रोककर उनको भी कहीं और विवि में प्रवेश लेने से रोका जा रहा है.

अगर ये सरासर तानाशाही नहीं तो और क्या है? हम प्रशासन से पूछना चाहते हैं कि स्टूडेंट न रहने देना तो सस्पेंशन से बड़ा कदम है, इसका मतलब आप बातचीत का कोई जगह छोड़ना ही नहीं चाहते हैं.-

हमें नहीं कुलपति को जाना होगा – 

पढ़ें-OBC हिस्सेदारी मांग रहे दिलीप यादव JNU हॉस्टल से बाहर, छात्र बोले संघी AGENDA लागू कर रहे हैं कुलपति

प्रताड़ित किए जा रहे छात्रसंघ अध्यक्ष मोहित पांडेय और दिलीप यादव समेत मौजूद छात्रों ने दो टूक शब्दों में कहा कि हम नहीं कुलपति को बाहर जाना होगा। भ्रष्टाचार, नियम तोड़ने और झूठ बोलने का गढ़ बन चुका है जेनएयू प्रशासन।

छात्रों ने आज मिलकर संकल्प लिया की जेनएयूएसयू को हमने चुना था. हम सभी छात्रों का एडमिशन एक ही प्रवेश प्रक्रिया से होता है, लेकिन जेएनयू वीसी सरकार और आरएसएस की स्वामिभक्ति के कारण यहां तैनात किए गए है. लोकतांत्रिक प्रकिया से चुनकर आया व्यक्ति थोपे गए किसी अधिकारी से हमेशा बड़ा होता है।

भ्रष्ट कुलपति को हटाने के लिए होगा आंदोलन- 

छात्रों ने चेतावनी दी कि आने वाले दिनों में एक बड़ा आंदोलन चलाकर कुलपति एम. जगदीश कुमार के खिलाफ हम स्टूडेंट्स चार्जशीट बनाएंगे और फिर इनको बाहर का रास्ता दिखाएंगे। इस बार इन कुलपति महोदय की टीम ने प्रवेश में भारी भ्रष्टाचार किया है. जितनी सीटें निकली थीं उतने भी प्रवेश नहीं हुए हैं.

इसे भी पढ़ें-कुलपति बोले देशभक्ति जगाने के लिए JNU में रखना होगा युद्ध टैंक, छात्र बोले संघ की गुलामी बंद करो

मोहित पांडेय ने कहा कि हम जेनयूएसयू की तरफ से जल्द ही एक सोशल ऑडिट करके इस पूरे भ्रष्टाचार और आरक्षण से छेड़छाड़ को उजागर करेंगे। इस बार एमए एडमिशन की मेरिट लिस्ट सार्वजनिक नहीं की गई . उसकी सबसे बड़ी वजह इस भ्रष्टाचार को छुपाना है.

जेनएयू कैंपस असहमतियों के लिए जाना जाता है और हम इस कैंपस को बेहतर बनाने की दिशा में काम करते रहेंगे, लेकिन जो भी लोग जेएनयू के बारे में झूठ फैलाने में लगे हैं उनको जेएनयू से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share