कोरोना संकट के योद्धा सामाजिक सरोकारों में भी आगे, SGPGI में रक्तदान शिविर आयोजित

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो।

कोरोना संकट के समय देश भर में मरीजों की सेवा में डॉक्टर्स ही फ्रंट लाइन के वारियर्स साबित हुए हैं। SGPGI लखनऊ के डॉक्टर्स व नर्सिग स्टाफ भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरी तन्मयता के साथ अपनी ड्यूटी निभाते रहे। इस दौरान 1 जुलाई को ‘डॉक्टर्स डे’ के खास मौके पर इन योद्धाओं ने रक्तदान कर अपने सामजिक सरोकार को भी बखूबी निभाया…

दरअसल 1 जुलाई को देश के जाने-माने चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. बिधान चंद्र रॉय का जन्मदिन और पुण्यतिथि दोनों एक साथ पड़ती है। डॉ. रॉय ने भारत की चिकित्सा में बहुत योगदान दिया था इसलिए उनके जन्मदिन और पुण्यतिथि को देश भर में ‘डॉक्टर्स डे’ के रूप में मनाया जाता है।

इस खास मौके पर संजय गांधी पीजीआई में रेजिडेंट्स डॉक्टर्स एसोसिएशन (आरडीए) के नेतृत्व में रक्तदान कैंप का आयोजन किया गया। संस्थान के निदेशक डॉ. आरके धीमान ने फीता काट कर कैंप का शुभारम्भ किया।

इस दौरान डॉ. आकाश माथुर, डॉ. अनिल गंगवार, डॉ. अजय शुक्ला, इम्युनोलॉजी विभागाध्यक्ष अमिता अग्रवाल, हिमेटॉलॉजी विभाग के डॉ. संजीव सिंह, कर्मचारी एसोसिएशन के महासचिव धर्मेश कुमार पटेल, डॉ, कनिष्क, डॉ. वसुंधरा राजपूत, एनेस्थीसिया विभाग के डॉ. फैजल, डॉ. वंदना गौतम, सुनील अग्रवाल, डॉ, मनमोहन आदि ने रक्तदान करके लोगों को इस बारे में प्रेरित किया।

आरडीए के महासचिव डॉ. अनिल गंगवार ने बताया कि इस मौके पर 55 लोगों ने रक्तदान करके 50 यूनिट ब्लड एकत्रित किया। 50 यूनिट ब्लड से तकरीबन 150 लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है। डॉ. गंगवार ने बताया कि एक यूनिट रक्तदान से लाल खून व सफेद खून (प्लेटलेट एवं प्लाज्मा) से कुल 3 जिंदगियां बचाई जा सकती हैं।

कार्यक्रम के अंत में संयोजक डॉ. वसुंधरा एवं डॉ. कनिष्क ने सभी स्वास्थ कर्मियों एवं संस्थान प्रशासन की सहभागिता एवं सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

बता दे कि भारत सरकार की स्वास्थ विभाग की वेबसाइट के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अब तक covid-19 से संक्रमित लोगों की संख्या 24,825 है, वहीं अब तक कुल 17221 कोरोना मरीज इससे ठीक हो चुके हैं। जबकि राज्य में मरने वालों की संख्या 135 है।

इसे भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share