सत्येन्द्र पीएस

दलित राष्ट्रपति बनाना “शबरी की श्रेष्ठता नहीं बल्कि श्रीराम का बड़प्पन साबित करने का प्रयास है”

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो बीजेपी ने बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया है. इसके बाद रामनाथ कोविंद की योग्यता पर बात करने की बजाए बीजेपी ने उनके दलित होने की मार्केटिंग कुछ ज्यादा ही कर दी. अब सोशल मीडिया में सवाल तैर रहा […]

क्या छात्रों को जातिगत काम की स्किल देने का आइडिया मोदीजी को ‘चालाक ब्राह्मण’ तिलक से मिला है !

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो उच्च शिक्षा में लगातार हो रहे बदलावों का सीधा असर वंचित वर्ग के छात्रो पर पड़ रहा है और आगे भी पड़ेगा. हालिया समय में यूजीसी ने पीएचडी और नेट में बढ़ रही ओबीसी-एससी- एसटी छात्रों की संख्या को देखते हुए नियमों में चालाकी से बदलाव करते हुए सीटें कम […]

तो क्या नोटबंदी के बेतुके फैसले से बर्बाद हुईं मंडियों का दुष्परिणाम है किसान आंदोलन

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो मोदी सरकार ने नोटबंदी का निर्णय लेने के समय तमाम बड़ी-बड़ी बातें की थी. लेकिन धीरे-धीरे सरकार के निर्णयों से ही ये स्पष्ट होने लगा कि सरकार ने जल्दबादी में फैसला ले लिया है. अब इस फैसले के दुष्परिणाम या यूं कहें कि गंभीर परिणाम लोगों के सामने आ रहे […]

Share
Share