विधानसभा अध्यक्ष त्रिवेदी का ज्ञान: राम क्षत्रिय, कृष्ण OBC थे उन्हे भगवान ब्राह्मणों ने बनाया

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

ब्राह्मण समाज की आत्ममुग्धता और जन्मजात श्रेष्ठ होने की जिद के कारण ही आज समाज में उसका सम्मान दिनों दिन नीचे गिरता जा रहा है। खुद को जातिगत महान साबित करने के कारण ही समाज में ब्राह्मण समाज की स्थिति अलग-थलग पड़ती जा रही है।

गुजरात विधानसभा के स्पीकर राजेंद्र त्रिवेदी के बयान को ही लीजिए। राम को क्षत्रिय और कृष्ण को ओबीसी बताते हुए बोले इन्हे भगवान ब्राह्मणों ने ही बनाया।

राजेंद्र त्रिवेदी ने ये बातें गांधी नगर में आयोजित मेगा ब्राह्मण बिजनेस समिट में लोगों को संबोधित करते हुई कही. इस समिट में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल भी मौजूद थे.

ब्राह्मणों ने बनाए भगवान- 

ब्राह्मण बिजनेस समिट में राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा कि ‘ब्राह्मणों ने ही भगवान बनाए हैं. भगवान राम एक क्षत्रिय थे, लेकिन ऋषि-मुनियों ने अपने ज्ञान का इस्तेमाल कर उन्हें भगवान बना दिया. उन्होंने आगे भगवान व्यास का भी उदाहरण देते हुए कहा कि, व्यास एक मत्स्यकन्या के बेटे थे. उन्हें भगवान का नाम ब्राह्मणों के कारण ही मिल पाया.’

भगवान कृष्ण के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि, ‘गोकुल का ग्वाला, जिसे हम आज के युग में ओबीसी बुलाते, उन्हें भगवान सान्दीपनि ऋषि ने बनाया था.’ उन्होंने आगे कहा, ‘ब्राह्मण ही थे जिन्होंने संस्कृत के अस्तित्व को बचाए रखा.’

मोदी और आंबेडकर भी ब्राह्मण-

अपने संबोधन के अंत में राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा कि ‘मुझे ये कहने में कोई झिझक नहीं है कि डॉ. बी. आर आंबेडकर भी एक ब्राह्मण थे. वे अपने सरनेम आंबेडकर के कारण ही ब्राह्मण थे.

उन्हें ये सरनेम उनके गुरु ने दिया था जो खुद ब्राह्मण थे. हर वो शख्स जो ज्ञानी है वो एक ब्राह्मण है. इस आधार पर मैं गर्व के साथ कहता हूं कि पीएम नरेंद्र मोदी भी ब्राह्मण हैं.’

अपने संबोधन में गुजरात विधानसभा के स्पीकर ने देश में ब्राह्मणों के योगदान के बारे में बात करते हुए कहा कि, ‘इस समुदाय ने देश को पांच राष्ट्रपति, सात प्रधानमंत्री, 50 मुख्यमंत्री और 50 से ज्यादा राज्यपाल दिए हैं.’ आगे उन्होंने कहा कि ‘ब्राह्मण महिला अंजलिबेन गुजरात के सीएम विजय रूपाणी की सफलता की अहम वजह हैं.’

बाद में इसी समिट में संबोधन देते हुए सीएम विजय रूपाणी ने भी राजेंद्र त्रिवेदी की बातों का समर्थन किया और कहा कि ‘ऋषि-मुनि ब्राह्मण थे. राजेंद्र भाई ने बिल्कुल सही बात कही है.’

बीमार होने के बाद उन्हें रांची के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उसके बाद 1 महीने पहले उन्हें एम्स रिफर कर दिया गया था।

AIIMS ने लालू यादव को जबरन किया डिस्चार्ज, नाराज लालू बोले ये मोदी की राजनीति का घटिया स्तर

ये कैसा रामराज्य ! सिपाही भर्ती में भी भेदभाव, अभ्यर्थियों के सीने पर प्रशासन ने लिख दी उनकी जाति

सरकार ने डालमिया ग्रुप के हवाले किया दिल्ली का ‘लाल किला’ लोग बोले संसद को कब बेचेंगे मोदी जी

वाराणसी: आरक्षण विरोधी सरकार के खिलाफ आक्रोश, ‘आरक्षण बचाओ पदयात्रा’ में PM मोदी को चेतावनी

‘ब्रांड मोदी’ की जमीनी हकीकत, 3 साल में 17,000 अमीर भारतीयों ने विदेशी मुल्क की नागरिकता ले ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share