You are here

रोहित वेमुला के नाम से ही क्यों डर जाती है मोदी सरकार, अब डॉक्यूमेंट्री पर लगाई रोक

तिरूअनंतपुरम। नेशनल जनमत ब्यूरो।

रोहित वेमुला मरने के बाद भी मोदी सरकार को एक भयानक सपने की तरह डरा रहा है. रोहित के मरने की बाद भी मोदी सरकार इतनी डरी हुई है कि उसने रोहित वेमुला के नाम पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म पर रोक लगा दी. दरअसल तिरूअनंतपुरम में अन्तर्राष्ट्रीय वृत्तचित्र औऱ लघु फिल्मों का महोत्सव 16 जून से शुरू होने वाला है. और इसी कार्यक्रम में रोहित वेमुला पर बनी 45 मिनट की डॉक्यूमेंट्री फिल्म दिखाई जानी थी पर भारत सरकार ने इस कार्यक्रम में रोहित वेमुला पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म दिखाने पर रोक लगा दी.

इसे भी पढ़ें…राजस्थान , पति को छुड़ाने पहुंची महिला से थानेदार ने कर दी जिस्म की मांग

रोहित पर बनी फिल्म के अलावा दो और फिल्मों के प्रदर्शन पर भी लगी रोक

रोहित वेमुला पर बनी फिल्म के अलावा दो और फिल्म के प्रदर्शन पर भी रोक लगाई गई है. इस कार्यक्म के आयोजकों का कहना है कि कथित तौर पर आत्महत्या करने वाले दलित शोधार्थी रोहित वेमुला के बारे में डॉक्यूमेंट्री द अनबियरएबल बीइंग ऑफ लाइटनेस, युवा कश्मीरी कलाकारों एवं छात्रों के एक समूह की जिंदगियों के बारे में इन द शेड ऑफ फॉलेन चिनार, जेएनयू विरोध प्रदर्शन पर बनी मार्च मार्च मार्च को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने महोत्सव में दिखाने की अनुमति नहीं दी.

इसे भी पढ़ें…रावण पर कार्यवाही के विरोध में मां ने संभाली भीम आर्मी की कमान , 18 जून को जंतर -मंतर पर प्रदर्शन

सांस्कृतिक आपातकाल थोप रही मोदी सरकार

मंजूरी ना मिलने पर अपनी नाराजगी जताते हुए केरल चलचित्र अकादमी अध्यक्ष और महोत्सव के निदेशक कमल ने कहा कि देश में सांस्कृतिक आपातकाल लगा हुआ हैं. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, हम देश में अघोषित आपातकाल से गुजर रहे हैं. हमें क्या खाना चाहिए, क्या पहनना चाहिए, किस बारे में बात करनी चाहिए, यह सब सत्तारूढ़ गठबंधन तय कर रहा है.

इसे भी पढे़ं…पटना नगर निगम चुनाव, ब्राह्मण – भूमिहारों का सफाया, यादव ,कुर्मी , कोयरी समेत obc जातियों का दबदबा

उपाध्यक्ष और कला निदेशक बीना पॉल ने कहा कि पांच दिवसीय इस महोत्सव में कम से कम 262 लघु फिल्मों और डॉक्यूमेंट्री दिखाए जाने की संभावना है. केरल प्रदेश चलचित्र अकादमी डॉक्यूमेंट्री और लघु फिल्म आंदोलन को बढ़ावा देने के अपने प्रयास के तौर पर इस महोत्सव का आयोजन कर रही है. मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन 16 जून को टैगोर थिएटर में इस महोत्सव का उद्घाटन करेंगे.

Related posts

Share
Share