You are here

कर्मकांड जो ज्यादा करता, समझो पिछड़ा है…. पढ़िए पिछड़ेपन की परिभाषा और कारण बताती एक कविता

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।  बौद्धिक संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व पीसीएस अधिकारी राजकुमार सचान होरी एक कविता के माध्यम से बताने की कोशिश कर रहे हैं कि पिछड़ा कौन है। इस कविता के माध्यम से उन्होंने पिछड़ों की सोच को झकझोरने की कोशिश भी की है। कर्मकांड जो ज्यादा करता ,समझो पिछड़ा है । खेत किसानी में ही…

Read More

RTI खुलासा: खुद को पिछड़ा बताने वाले PM के ऑफिस को नहीं पता कि देश का पहला OBC PM कौन है?

नई दिल्ली, नीरज भाई पटेल ( नेशनल जनमत)   राजनीतिज्ञों की राजनीति किसी के समझ में आ जाए फिर वो राजनीति ही क्या? हर बात का गोलमोल बात करके सामने वाले को संतुष्ट कर देना और आश्वासन देना ही तो इनकी फितरत होती है। अपनी जुमलेबाजी के लिए बदनाम हो चुके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यालय से सूचना के अधिकार के…

Read More
Share
Share