You are here

खामोशी से बैठे पिछड़ों ! अगला नंबर मेरा या आपका हो सकता है, वे आंदोलनकारियों को कुचल रहे हैं

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।  अगला नाम मेरा या आपका या किसी का भी हो सकता है, तैयार रहें. वे एक-एक करके सबको कुचल रहे हैं, अगर हम नहीं सुधरे तो कभी तो हमारी बारी भी आयेगी. रोहित वेमुला को न्याय नहीं मिला. रोहित चौधरी को न्याय नहीं मिला. नज़ीब को न्याय नहीं मिला. अख़लाक़ को न्याय नहीं मिला. अफराजुल…

Read More

IPS के अधिकारों में कटौती: अब SHO व इंस्पेक्टर नियुक्त नहीं कर पाएंगे SP, DM से लेनी होगी अनुमति

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो।  प्रमोशन को लेकर प्रांतीय पुलिस सेवा (पीपीएस) व भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी पहले से ही नाराजगी व्यक्त करते रहे हैं। दोनों ही सेवाओं के पुलिस अधिकारी आरोप लगाते हैं कि उनके ही बैच में चयनित हुए पीसीएस व आईएएस अधिकारी जल्दी प्रमोशन पा जाते हैं। जबकि पुलिस अधिकारियों की विभागीय प्रोन्नति समिति (डीपीसी) में देरी…

Read More
Share
Share