You are here

रावण पर कार्रवाई के विरोध में मां ने संभाली भीम आर्मी की कमान, 18 जून को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को जेल भेजे जाने के बाद रावण के समर्थकों में आक्रोश बढ़ गया है. अब भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण की मां कमलेश ने भीम आर्मी की कमान संभालते हुए प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

प्रशासन की दलितों पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए कमलेश ने कहा कि प्रशासन जातिवादी रवैया अपनाए हुए है. मेरे बेटे को जानबूझकर फंसाया जा रहा है. मां के मुखर होने के बाद उत्साहित महिलाओं ने कल देवबंद में भीम आर्मी के एसडीएम कार्यालय को घेर लिया था. इधर सोशल मीडिया के सहारे कमलेश लगातार समाज से समर्थन मांग रही हैं।

इसे भी पढ़ें-केन्द्र सरकार वि.वि. में लागू कर रही है गुरुकुल सिस्टम, एससी, एसटी ओबीसी को रोकने की तैयारी

18 जून को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन- 

चंद्रशेखर की मां ने एक वीडियो के माध्यम से लोगों से अपील की है कि दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर 18 जून को होने वाले प्रदर्शन में जरूर शामिल हों. इस वीडियो के वायरल होते ही प्रशासन ने रावण के परिजनों व भीम आर्मी की गतिविधियों पर नजर रखना शुरू कर दिया है.

इसे भी पढ़ें- चर्चित हो गई यादव जी की सामाजिक न्याय वाली शादी, बारातियों में बंटी गुलामगिरी और संविधान

जेल में तनहाई बैरक में रखा गया है रावण को- 

जेल में बंद चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण फिलहाल तनहाई बैरक में है. शिवकुमार, भीम आर्मी से जुड़े राजन, कदम ¨सह, प्रवीण गौतम, कमल वालिया, रोहित राज व दीपक से एक साथ मिलने के लिए रावण कई बार कारागार प्रशासन से आग्रह कर चुका है. जेल अधीक्षक सेवाराम ने बताया कि रावण की एक साथ मुलाकात नहीं कराई गई है. बैरक में उसकी हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है.

Related posts

Share
Share