You are here

BHU के बाद अब IIT कानपुर में भी लड़कियों से छेड़छाड़, रिपोर्ट दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

नई दिल्ली/कानपुर, नेशनल जनमत ब्यूरो।

उत्तर प्रदेश के शिक्षण संस्थानों में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में लड़की के साथ हुई छेड़छाड़ का मामला अभी शांत नहीं हुआ था, कि देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में शुमार कानपुर आईआईटी में 2 छात्राओं के साथ छेड़छाड़ का मामला आया है।

मामला पुराना है लेकिन आईआईटी प्रशासन ने इसको दबाने की पुरी कोशिश की। बाद में कल्याणपुर थाने में दर्ज की गई रिपोर्ट के बाद मामला सामने आया। अब डायरेक्टर की तरफ से मंगलवार को बयान जारी कर बताया गया है कि 17 सितंबर की शाम एक बाहरी युवक ने दो छात्राओं पर कॉमेंट किए थे।

स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक आईआईटी की दो छात्राओं के साथ बाहरी लड़को ने छेड़छाड़ की थी। इस घटना के बाद छात्राओं ने कानपुर के कल्याणपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई, लेकिन पुलिस ने इस मामले में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

छात्राओं ने स्थानीय नेता के दबाव में कल्याणपुर पुलिस और आईआईटी के सिक्योरिटी अधिकारियों पर मामले को दबाने का आरोप लगाया है। वहीं आईआईटी के छात्र-छात्राओं ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर ऑनलाइन मुहिम छेड़ दी है। पूरा घटनाक्रम सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है।

कुछ लोगों का कहना है कि प्रशासन नहीं चाहता की ये मामला किसी भी हाल में बीएचयू की तरह तूल पकड़े। इस घटना के बाद कानपुर आईआईटी की सुरक्षा और बढ़ा दी गई है।

कानपुर आईआईटी में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ कि ये घटना 17 सिंतबर की है। गर्ल्स हॉस्टल की लॉन में कुछ लड़कियां बैडमिंटन खेल रही थीं। इसी दौरान उन पर भद्दे कमेंट किए गए।

BJP के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा बोले, भारत को गरीब बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं अरुण जेटली

चीफ जस्टिस बनने से रोकने के लिए जयंत पटेल का कोलेजियम ने किया ट्रांसफर, तो थमा दिया इस्तीफा

बेतुका बयान देने वाले चीफ प्रॉक्टर ओएन सिंह हटाए गए, VC बोले छुट्टी जाने से अच्छा है इस्तीफा दे दूं

कुलपति त्रिपाठी का एक और कारनामा, यौन उत्पीड़न के ‘दोषी’ को बना दिया विश्वविद्यालय अस्पताल का हेड

UP में असुरक्षित बेटियां: अब UGC ने भी माना छेड़छाड़ की घटनाओं में UP के विश्वविद्यालय अव्वल

पाटीदारों और गुजरात की देन हैं सरदार पटेल’ जिन्होंने देश को संगठित कर आगे बढ़ाया- राहुल गांधी

अच्छे दिनः यूपी में प्राइमरी अध्यापक बनने की राह और भी कठिन, TET के बाद भी लिखित परीक्षा अनिवार्य

कमिश्वर की जांच में खुलासा, VC त्रिपाठी के गलत रवैये से भड़का छात्राओं का गुस्सा, दिल्ली तलब

 

Related posts

Share
Share