You are here

अखाड़ा परिषद ने जारी की फर्जी बाबाओ की सूची, निर्मल बाबा, रामरहीम, आसाराम सहित दर्जनों शामिल

लखनऊ/ नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने देश के 14 फर्जी बाबाओं की सूची जारी की है। इलाहाबाद में अपनी कार्यकारिणी की बैठक में अखाड़ा परिषद ने इन बाबाओं की लिस्ट जारी की है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद में देश के सभी 13 अखाड़े शामिल हैं, जिसमें लाखों की संख्या में साधु-संत हैं.

हालांकि लोग इस बात पर सवाल उठा रहे हैं कि अखाड़ा परिषद ने इन बाबाओं के नाम जारी करते-करते बहुत देर कर दी। जब अदालत से ही इन बाबाओं को सजा सुनाई जा चुकी है तो अब अखाड़ा परिषद इनके नाम सार्वजनिक करके क्या साबित करना चाहता है?

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा, ‘काफी दिनों से फर्जी बाबाओं के द्वारा बलात्कार, शोषण और देश की भोली-भाली जनता को ठगने की खबरें आती रही हैं. कई बाबाओं के खिलाफ देश की अदालतें भी फैसला दे चुकी हैं.

ऐसे में हिंदू धर्म और संत समाज की बदनामी होती है. इसलिए परिषद ने ये फैसला लिया है कि वह स्वयं फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी कर दे, ताकि जनता उनसे सचेत रहें.’

ये है बाबाओं की लिस्ट- 

आसाराम उर्फ आशुमल शिरमानी, सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां, सचिदानंद गिरी उर्फ सचिन दत्ता, गुरमीत राम रहीम, डेरा सच्चा सिरसा, ओम बाबा उर्फ विवेकानंद झा, निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह, इच्छाधारी भीमानंद उर्फ शिवमूर्ति द्विवेदी, स्वामी असीमानंद, ऊं नम: शिवाय बाबा, नारायण साईं, रामपाल, खुशी मुनि, बृहस्पति गिरि और मलकान गिरि समेत कुल 14 नाम शामिल हैं.

उन्होंने यह भी बताया कि अखाड़ा परिषद की इस पहल को लेकर आसाराम के कथित समर्थकों ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी है. अखाड़ा परिषद की कार्यकारिणी में सभी अखाड़ों के दो-दो सदस्य हैं. ये 26 सदस्य मिलकर फर्जी बाबाओं की सूची बनाएंगे.

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने एनडीटीवी से कहा कि परिषद की कोशिश यह है कि 2019 में होने वाले अगले अर्धकुंभ में फर्जी बाबाओं के प्रवेश पर रोक लगाई जाए.

ये कैसी राष्ट्रभक्ति? बाढ़ पीड़ितों के बीच एक्सपायरी डेट का सामान बंटवाकर विवाद में फंसे बाबा रामदेव

JNU छात्र संघ: जय श्रीराम-लाल सलाम के लिए मुसीबत बनता जा रहा है दलितों-पिछड़ों का संगठन बापसा

JNU का भगवाकरण करने की रणनीति फेल, ABVP चारों खाने चित, अध्यक्ष समेत सभी पदों पर लाल सलाम

ब्राह्मण वैज्ञानिक ने लगाया कुक निर्मला यादव पर भगवान को अपवित्र करने का आरोप, दर्ज कराया केस

UPPSC के गेट पर ‘यादव आयोग’ लिखने वालों के राज में APO पद पर 40 फीसदी ब्राह्मणों का चयन

भगवाराज: UP की बेसिक शिक्षा मंत्री का फरमान, रविवार को भी स्कूल खोलकर मनाएं PM मोदी का जन्मदिन

Related posts

Share
Share