You are here

अखिलेश से मिलने के बाद ‘मुलायम’ हुए नेताजी, बोले शिवपाल को अखिलेश से संबंध सुधारने की पहल करनी होगी

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

सपा संरक्षक मुलायम सिंह और अखिलेश यादव के रिश्तों पर जमी बर्फ अब पिघलती नज़र आ रही है। इस सिलसिले में गुरुवार को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की।

मीडिया खबरों के मुताबिक अखिलेश यादव सपा संरक्षक को आगरा अधिवेशन का निमंत्रण देने गए थे। पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन आगरा में 5 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि अखिलेश ने इस दौरान मुलायम सिंह यादव से गले शिकवे दूर करने की कोशिश की।

मुलायम का अखिलेश के साथ आना शिवपाल की उस योजना के लिए करारा झटका माना जा रहा है, जिसके तहत पिछले दिनों प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवपाल यादव ने अखिलेश से अलग पार्टी बनाने की बात कही थी। इतना ही नहीं बीते दिनों मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कांफ्रेंस करके साफ कर दिया था कि वो अलग पार्टी नहीं बनाएंगे।

इसका मुलाकात के बाद अपनी चिरपरिचत अंदाज में मुलायम होते हुए नेताजी ने शिवपाल यादव को नसीहत देते हुए कहा कि शिवपाल अब समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव से अपने संबंधों को सुधारने की पहल खुद करें। मुलायम और अखिलेश के बीच सुलह के बाद शिवपाल यादव पर दबाव बढ़ गया है।

मुलायम ने शिवपाल से कहा है कि ‘मेरी चिंता छोड़ो और पहले अखिलेश से अपने संबंध सुलझाओ। नेताजी की इस नसीहत के बाद भी शिवपाल यादव के तेवर कम नहीं पड़े उन्होंने कहा, उनके लिए मुलायम सिंह यादव का सम्मान सर्वोपरि है।

गुरुवार को अखिलेश से मुलायम की मुलाकात के बाद शिवपाल मुलायम से मिलने उनके आवास पर गए थे। मीडिया खबरों के मुताबिक शिवपाल यादव का कहना है कि वह आज भी मुलायम सिंह यादव के साथ हैं, उन्हें नेताजी के सम्मान के अलावा कुछ भी नहीं चाहिए।

गुजरात का रामराजः दलित की स्टाइलिश मूंछों से नाराज सवर्णों ने की पिटाई, मामला दर्ज

हार्दिक पटेल-राहुल गांधी कनेक्शन बनाम उत्तर प्रदेश के दो पटेल युवा तुर्कों का संघर्ष

भारत के सभ्य होने की राह में धर्म, अध्यात्म, अंधविश्वास, कर्मकांड सबसे बड़ी बाधा है ! (पार्ट-1)

गुजरात के व्यापारियों का अभियान ‘कमल का फूल, हमारी भूल’ पत्रकार ने शेयर किया तो फेसबुक ने किया ब्लॉक

4 लाख करोड़ के कर्ज में डूबी गुजरात की BJP सरकार, युवाओं को सस्ता लोन का वादा छलावा- हार्दिक पटेल

BJP के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा बोले, भारत को गरीब बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं अरुण जेटली

चीफ जस्टिस बनने से रोकने के लिए जयंत पटेल का कोलेजियम ने किया ट्रांसफर, तो थमा दिया इस्तीफा

 

Related posts

Share
Share