You are here

सहारनपुर हिंसा को लेकर सीएम का विरोध कर रहे छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया

इलाहाबाद। नेशनल जनमत ब्यूरो।

सीएम योगी आदित्यनाथ के इलाहाबाद दौरे पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र छात्राओ ने जमकर विरोध किया. ये छात्र यूपी में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर विरोध कर रहे थे. छात्रों का कहना है कि योगी सरकार ने अपराधियों को खुली छूट दे दी है. महिलाओं को अब घर से बाहर निकलने में भी डर लगने लगा है.

ये छात्र खासतौर पर सहारनपुर जातीय दंगे और बुलंदशहर में मुस्लिम समुदाय की चार महिलाओं से हाईवे पर रेप और इलाहाबाद के सोरांव में गुप्ता परिवार की तीन लड़कियों की बलात्कार के बाद की गई हत्या से खासी आक्रोशित थे.

छात्रों ने योगी सरकार पर आरोप लगाया कि योगी सरकार सहारनपुर में अपराधियों को बचा रही है और जाति के नाम पर कमजोर लोगों को जेल में डाल रही है. वहीं पूरे प्रदेश में हत्या, लूट, बलात्कार, गुंडई का बोलबाला हो गया है. योगी सरकार अपराधियों पर लगाम लगाने में नाकाम रही है.

सोरांव में बलात्कार के बाद कत्ल कर दी गई थीं लड़कियां-

आपको बता दे कि लगभग एक महीना पहले जिले की सोरांन तहसील में एक गुप्ता परिवार की दो लड्कियों की बलात्कार करने के बाद अपराधियों ने हत्या कर दी थी. पुलिस अभी भी मामले की लीपा -पोती में जुटी है. इससे छात्रों में गहरा आक्रोश है. इसीलिए छात्र मुख्यमंत्री योगी से इस मामले में दोषियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.

पुलिस ने किया प्रदर्शनकारी छात्रों को गिरफ्तार-

सीएम योगी की लचर कानून व्यवस्था के खिलाफ आंदोलन कर रहे छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लेकर कर्नलगंज पुलिस थाने में बैठा लिया. अभी भी छात्रों को पुलिस अपनी हिरासत में ही रखे हुए है. पुलिस हिरासत मे लिए गए छात्रों के नाम शालू यादव, शिवानी, रश्मि, अमीषा,सुनील मोर्या, सर्वानंद, अविनाश विद्यार्थी, विष्णु प्रभाकर, अभिनव प्रताप यादव हैं. ये सभी छात्र आइसा नामक छात्र संगठन से जुड़े हैं.

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिन के प्रवास पर इलाहाबाद आए हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए पुलिस को ये आशंका है कि आंदोलनकारी छात्र सीएम योगी के कार्यक्रम में बाधा पहुंचा सकते हैं. इसीलिए पुलिस अभी तक आंदोलनकारी छात्रों तो हिरासत में लिए हुए है.

 

 

 

Related posts

Share
Share