You are here

आदिमानव से डॉ. अंबेडकर बनने का पोस्टर BSP की कड़ी आपत्ति के बाद रेल मंत्रालय ने हटवाया

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

बहुजन समाज पार्टी ने ट्वीट करके दिल्ली पुलिस से अंत्योदय ग्रुप द्वारा स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर लगाए गए एक पोस्टर पर ऐतराज जताया है। बीएसपी ने इसे बाबा साहेब का अपमान बताते हुए दिल्ली पुलिस और रेल मंत्री सुरेश प्रभु से कार्रवाई की मांग की । रेल मंत्रालय को बीएसपी का विरोध देखते हुए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से इस होर्डिंग को हटवाना पड़ा।

दरअसल अंत्योदय ग्रुप ने स्वच्छ भारत अभियान का समर्थन करने के लिहाज से देश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर अलग-अलग तरह के होर्डिंग लगवाए हैं। इनमें दिखाया गया है कि किस तरह से पाषाण काल से आदि मानव का सभ्य सामाजिक प्राणी के रूप में विकास हुआ और उसके भीतर सामाजिकता की सोच भी विकसित हुई। इसमें कुछ प्रसिद्ध शख्सियतों को सांकेतिक रूप से शामिल किया गया।

ऐसा ही एक पोस्टर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर लगाया गया है। इस पोस्टर में आदि मानव से विकास के क्रम में बाबा साहेब बनते हुए और फिर कूड़ा उठाकर डालते हुए दिखाया गया है। बीएसपी ने इस बारे में दिल्ली पुलिस और रेल मंत्री सुरेश प्रभु को ट्विट किया है।

अंत्योदय ग्रुप ने कई महापुरुषों पर लगाए हैं पोस्टर- 

पोस्टरों में महात्मा गांधी व बाबा साहेब अंबेडकर जैसी हस्तियों को कूड़ा डस्टबिन में डालते दिखाया हया है। इसके अलावा एक पोस्टर मेंबाहुबली फिल्म के नायक को भी जमीन से कूड़ा उठाकर डस्टबिन में डालते दिखाया गया है।

ऐसा ही एक पोस्टर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर बाबा साहेब अंबेडकर का लगा है, लेकिन किसी बहुजन समाज पार्टी कार्यकर्ता की नजर इस पर पड़ गई और उन्हें यह आपत्तिजनक लगा।

पूरा मामला देखिए- 

बहुजन समाज पार्टी के अधिकृत ट्विटर हैंडल से अंबेडकर के पोस्टर का फोटो ट्वीट किया गया जिसमें दिल्ली पुलिस, रेल मंत्री सुरेश प्रभु को भी टैग किया गया। बसपा ने ट्वीट किया- डियर दिल्ली पुलिस एवं सुरेश प्रभु जी, प्लीज इस मामले को देखें? यह अस्वीकार्य है और बी आर अंबेडकर जी के लिए अपमानजनक है।

कृपया इसे हटवाया जाए। बसपा के इस ट्वीट पर तुरंत दिल्ली पुलिस ने संज्ञान लिया और ट्वीट किया- कृपया वाजिब एक्शन के लिए अतिरिक्त जानकारी दें, एरिया, जिला इत्यादि।

बसपा ने ट्वीट किया- मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह पोस्टर अंत्योदय ग्रुप ने इसे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर लगाया है।
इसी बीच मिनिस्ट्री आफ रेलवे का ट्वीट आ गया- फीडबैक के लिए धन्यवाद, पोस्टर को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है और आवश्यक एक्शन लिया जा रहा है।

दलित न्यूज नेटवर्क द्वारा इस मामले को लेकर जब एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराने की अपील की गई तो इसे बहुजन समाज पार्टी (यूपी) के ट्विटर हैंडल से री ट्वीट भी किया गया।

 

Related posts

Share
Share