You are here

क्या बलात्कार को बढ़ावा दे रही है अमेजन इंडिया, आक्रोशित महिलाओं ने कहा माफी मांगनी होगी

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

अमेज़न इंडिया ने अपनी साइट पर एक प्रोडक्ट रिलीज़ किया है. प्रोडक्ट क्या रिलीज किया है,  निहायत ही घटिया स्तर की मार्केटिंग तकनीकि का इस्तेमाल किया है. जिसे लेकर देश की महिलाओं में काफ़ी गुस्सा है और इस गुस्से को सोशल मीडिया पर निकाल भी रही हैं. बहरहाल अब महिलाओं की मांग है कि अमेजन को इस प्रोडक्ट को हटाने के साथ ही देश की महिलाओं से माफी भी मांगनी चाहिए.

बेहद ही घटिया सोच की ऐस ट्रे है ये-

प्रोडक्ट का नाम है ‘ट्राईपोलर क्रिएटिव टेबलटॉप ऐश-ट्रे’. कंपनी के मुताबिक़, यह एक डेकोरेशन आइटम है यानी इसे सजावट के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. ऐश-ट्रे में एक नग्न महिला को टब के ऊपर लेटा हुआ दिखाया गया है.

केन्द्र सरकार में सूचना अधिकारी गीता यादव लिखतीं हैं कि-

ये बलात्कार को बढ़ावा नहीं है तो क्या है??
हर घंटे बलात्कार होते है,
सिर्फ बलात्कार नहीं होते,
होती है चीरा फाड़ी लड़कियों के शरीर की,
स्तन काटे जाते है,
वेजाइना में घोंप दिए जाते है,
कांच, लोहे की रोड,
कंकर पत्थर के टुकड़े.,
शराब की टूटी बोतले,
मारने के बाद
जला देते है चेहरा,
ताकि कोई पहचान ना पाए,
उस देश का बाजार आपको मानसिक संतुष्टि देना चाहता है,
आप असलियत में ये सब नहीं कर पा रहे हो तो,
ऐशट्रे पर ही कर लीजिये,
जलती हुई सिगरेट मेटल की वेजाइना में बुझाइये,
और खुश होइए,
ये सोचकर के किसी औरत के शरीर को जला दिया.
(बाज़ार का ये रूप, और अमेज़न घिन्न हो रही है तुमसे.)

फ़ेसबुक पर रीवा सिंह ने अमेज़न के नाम एक ‘खुला खत’ लिखा है. रीवा उसमें लिखती हैं, “डियर अमेज़न, मुझे उम्मीद है कि आपकी टीम इस उत्पाद को एक मॉडल के तौर और आपके वरिष्ठ अफ़सर इसे अपनी साइट पर उतारते वक़्त होश में रहे होंगे. लेकिन आपकी रचनात्मकता ने हमारे पास कोई विकल्प नहीं छोड़ा है.”

‘रॉड, तेज़ाब के बाद अब सिगरेट’
फ़ेसबुक यूज़र शिल्पी ने लिखा है, “लो भई! अब औरत के गुप्तांग में सिगरेट भी बुझाई जा सकती है. अभी तक रॉड, तेज़ाब, मोमबत्ती और न जाने क्या-क्या डाला गया. लेकिन यह नई सुविधा उपलब्ध करवाई है अमेज़न ने.”

फ़ेसबुक यूज़र प्रीति कुसुम के मुताबिक़ अमेज़न ने इस उत्पाद को अपने ‘क्रिएटिव’ सेक्शन में भी जगह दी है. उन्होंने अपना गुस्सा ज़ाहिर करते हुए फ़ेसबुक पर लिखा, “ये क्रिएटिविटी है. #Amazon की साइट पर बिक रहा यह ऐश-ट्रे, इस देश की बलात्कारी मानसिकता का जीता जागता उदाहरण है.”

सोशल मीडिया पर चल रहा है अभियान- 

गीता यथार्थ और रीवा सिंह जैसी जागरूक महिलाओँ ने फेसबुक पर अभियान चलाया हुआ है…उनका साफ कहना है कि सिर्फ इन प्रोडक्ट को हटाना ही काफी नहीं होगा. अमेजन इंडिया को इस पुरुषवादी घटिया मानसिकता के लिए देश की महिलाओं से माफी भी मांगनी होगी.

Related posts

Share
Share