You are here

जेठ पर हमला: अनुप्रिया पटेल के विरोध में आया विश्व हिन्दु परिषद, MLC आशीष पटेल पर लगाए गंभीर आरोप

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

शासन में समुचित भागीदारी और परिवारवाद के सवालों का सामना कर रहीं केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल अपने एमएलसी पति आशीष पटेल के बड़े भाई के लूट प्रकरण के कारण परेशानी में घिरती दिख रही हैं।

अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल के बड़े भाई से लूट और मारपीट कांड में किरकिरी होने के बाद अब विश्व हिंदू परिषद (विहिप) खुलकर मंत्री और उनके एमएलसी पति के विरोध में आ गया है।

मामला अनुप्रिया पटेल के संसदीय क्षेत्र मिर्जापुर का ही है। आशीष पटेल के बड़े भाई की पिटाई के मामले को नया मोड़ देते हुए विहिप के जिलाध्यक्ष ने प्रेस वार्ता कर अपना दल (एस) व राष्ट्रीय अध्यक्ष पर कई गंभीर आरोप लगाए। हालांकि अपना दल की ओर कोई बयान अब तक नहीं आया है।

दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर खबर फैलते ही लोग अलग-अलग तरीके से कमेंट कर रहे हैं। फेसबुक यूजर दिनेश पटेल ने लिखा कि हमेशा सरकार में ना सुनने का रोने वाले लोगों के पास घर का मामला आने पर इतनी ताकत कहां से आ गई ?

विहिप का आरोप नशे में थे मंत्री के जेठ- 

29 अप्रैल को घटित घटना को लेकर मंत्री के जेठ अरुण कुमार ने बुधवार को मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने तीन नामजद ओर दो अज्ञात पर केस दर्ज कर दो को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया था।

गुरुवार को विहिप के जिलाध्यक्ष रामचंद्र शुक्ल ने रमईपट्टी में पत्रकारों से कहा कि अनुप्रिया पटेल व अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं एमएलसी आशीष सिंह पटेल के दबाव में पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं पर झूठा मुकदमा कायम किया है, जबकि गलती एमएलसी के भाई व अन्य लोगों की थी।

मंत्री और एमएलसी का पुतला फूंकने की धमकी- 

मंत्री और एमएलसी के दबाव में पुलिस ने कार्यकर्ताओं को लूट जैसी संगीन धाराओं में फंसा कर जेल भेज दिया। मुकदमा वापस न हुआ तो विहिप कार्यकर्ता मंत्री और उनके पति का पुतला फूंकेंगे।

उन्होंने कहा कि आशीष सिंह पटेल के बड़े भाई ने नशे में बजरंग दल और विहिप कार्यकर्ताओं से अभद्रता और मारपीट की तथा उन पर पिस्टल तान दी थी। वे अपने बड़े भाई की गलतियों को छिपा रहे हैं साथ ही मीडिया और जनता को गुमराह किया जा रहा है।

जिन्हें डकैती के मुकदमे में फंसाया गया है उनका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। पुलिस ने बिना जांच के ही दबाव में एकतरफा कार्रवाई की है। कार्यकर्ताओं पर से झूठे मुकदमे को वापस लिया जाए व मंत्री राजनीतिक सूझबूझ का परिचय देते हुए कार्यकर्ताओं से माफी मांगें।

योगीराज: केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के पति MLC आशीष पटेल के भाई के साथ सरेआम मारपीट व लूट

योगीराज: ठाकुरों ने दलित को पेशाब पिलाई, मूंछ उखाड़ दी, बोले मारो साले को “सरकार हमारी है”

लखनऊ: आरक्षण खात्मे के विरोध में सामाजिक न्याय सम्मेलन 6 मई को, देश भर से होगा दिग्गजों का जुटान

PM मोदी के OBC मिशन को BJP नेता ने लगाया पलीता, अंबेडकर और मोदी को बता दिया ‘ब्राह्मण’

विधानसभा अध्यक्ष त्रिवेदी का ज्ञान: राम क्षत्रिय, कृष्ण OBC थे उन्हे भगवान ब्राह्मणों ने बनाया

 

Related posts

Share
Share