You are here

नेशनल जनमत एक्स: कृषि मंत्रालय की ARS परीक्षा में बड़ा खेल, OBC की कट ऑफ जनरल से भी ज्यादा

नई दिल्ली। नीरज भाई पटेल ( नेशनल जनमत ब्यूरो)

राधा मोहन सिंह के कृषि मंत्रालय में आरक्षण के गोलमाल का बड़ा खेल सामने आया है.भारत सरकार के कृषि मंत्रालय के अधीन संस्थान संविधान के नियमों की खुलकर धज्जियां उड़ा रहा है. सवर्णों को दे दिया गया सीधे-सीधे 51 प्रतिशत आरक्षण. ओबीसी की कट ऑफ जनरल कैटेगरी से भी ज्यादा कर दी गई.

आईसीएआर की परीक्षा में आरक्षण को लेकर गड़बड़ी-

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद(ICAR) की कृषि वैज्ञानिक बनाने वाली परीक्षा ‘कृषि अनुसंधान सेवा’ यानि ARS परीक्षा में ये खेल सामने आया है. सामाजिक कार्यकर्ता और पेशे से शिक्षत मृत्युंजय प्रभाकर कहते हैं कि सिस्टम में हर जगह काबिज जातिवादी माानसिकता के लोग संविधान प्रदत्त आरक्षण को इसी तरह से चोट पहुंचाते हैं.

11 अलग-अलग प्रभागों में हुआ है खेल- 

कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल की स्थापना गजेन्द्र गडकर समिति की सिफारिशों के अनुसार एक स्वतंत्र नियुक्ति अभिकरण के रूप में 01 नवंबर, 1973 को हुई थी।

एग्रीकल्चरल साइंटिस्ट्स रिक्रूटमेंट बोर्ड (ASRB) यानि कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल जिसका ऑफिस दिल्ली के पूसा इंस्टीट्यूट में स्थित है. इसके माध्यम से निकाली गई कृषि वैज्ञानिक के विभिन्न पदों पर हुई नियुक्तियों में भारी खेल सामने आया है.

31 अलग-अलग प्रभागों  के कृषि वैज्ञानिक पदों पर निकली नियुक्तियों में एक दो में नहीं बल्कि 11  प्रभागों के पदों में ओबीसी की कट ऑफ जनरल से बहुत ज्यादा कर दी गई है.
देखिए 2016 के प्री रिजल्ट में कैसे खेल किया गया है-

सामान्य    ओबीसी

एग्रीकल्चर बायोटेक्नोलॉजी- 81.33    90.33

एग्रीकल्चर इंटोमॉलोजी-       86.67     90.67

एग्रीकल्चर माइक्रोबायोलॉजी- 106.67    120.33

जेनेटिस्क एंड प्लांट ब्रीडिंंग-   84.33      88.33

प्लांट पैथोलॉजी –                95.33            99

एनीमल जेनेटिक्स एंड ब्रीडिंग –  103       106.67

एनीमल रिप्रोडक्शन-                91          95.67

फिस प्रोसेस टेक्नोलॉजी-        78             83.33

एग्रोनॉमी-                               92            97.67

सॉइल साइंसेस-                      83.33        87.33

इससे पहले झारखंड पीसीएस की परीक्षा में हुआ था खेल-

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास खुद ओबीसी कटेगरी से आते हैं लेकिन झारखंड राज्य लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा के रिजल्ट में ओबीसी 1 और ओबीसी 2 का कटऑफ जनरल कटेगरी से ज्यादा गया था. जहां जनरल कटेगरी के छात्र 210 नंबर पाने पर पास घोषित किए गए थे वहीं ओबीसी-2 के छात्रों को पास होने के लिए 260 नंबर लाना पड़ा तो ओबीसी-1 के छात्रों को इसके लिए 226 नंबर लाना पड़ा। एससी/एसटी छात्रों की कट ऑफ 196 गई थी. हालांकि भारी विरोध और छात्रों के हंगामे के बाद प्री का रिजल्ट दोबारा लाना पड़ा था. झारखंड पीसीएस को.

Related posts

Share
Share