You are here

रेप केस में गुरमीत सिंह राम रहीम दोषी करार, हिरासत में लिया गया, 28 को सजा का ऐलान

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को शुक्रवार को पंचकूला स्थित सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिंह ने 15 वर्ष पुराने इस मामले में दोषी करार दिया. फैसला सुनाते समय बाबा अपने वकीलों के साथ अदालत में मौजूद थे. अदालत सजा का एलान 28 अगस्त को करेगी.

राम रहीम को पुलिस ने हिरासत में लिया. उन्हें यहां से जेल भेजा जाएगा। फैसला आने से पहले ही पंजाब और हरियाणा सरकार के हाथ-पैर फूल गए थे। हरियाणा पुलिस ने पंचकुला से डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के समर्थकों को खदेड़ना शुरू कर दिया था।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के  विरुद्ध अनुयायी यौन शोषण मामले में अदालत के फैसले के बाद उपजी किसी भी स्थिति से निपटने के लिये सरकार ने पूरी तैयारी की है.

राज्य के गृहसचिव ने कहा कि प्रशासन हाईकोर्ट के आदेशों का पालन कर रहा है। कोर्ट ने डेरा समर्थकों को वापस भेजने को कहा था और इसी के तहत कार्रवाई की जा रही है। डेरा समर्थकों को कोर्ट के फैसले के बारे में जानकारी दी गई है और बसों का इंतजाम किया जा रहा है। हालांकि अब तक फोर्स का यूज नहीं किया गया है।

हरियाणा में लागू धारा 144-

हालांकि हरियाणा पुलिस के अफसरों ने रात को लाऊड स्पीकर लेकर धारा 144 लागू होने का ऐलान करते हुए भारी तादाद में डेरा अनुयायियों को अपने-अपने घर जाने की बात कहते हुए पेशकश दी कि उन्हें बस की जरूरत है तो मुहैया करवा दी जाएगी।

इस घोषणा के चलते थोड़ी देर के लिए लोग इधर-उधर तो हुए लेकिन, फिर सभी डेरा अनुयायी वापस डट गए। समाचार लिखे जाने तक हैफेड चौक पर डेरा समर्थक अभी भी सड़कों पर बने हुए हैं और पुलिस और पैरा मिलेट्री फोर्स के जवान उनके सामने मुस्तैद खड़े हैं लेकिन, डेरा अनुयायियों को हटाने की कोई कार्रवाई होती नहीं दिखी।

डीजीपी का आदेश- 

इससे पहले हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने रात के समय कहा था कि डेरा अनुयायियों को हटा दिया जाएगा लेकिन, ऐसा कुछ होता नहीं दिखा। पुलिस की तरफ से रात को मुनादी कर लोगों से हटने को जरूर कहा गया लेकिन, उसके बाद से सबकुछ शांत नजर आया। इधर, सेना के मोर्चा संभालने की भी आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई। फिलहाल यह साफ नहीं है कि पुलिस का अगला कदम क्या होगा।

उल्लेखनीय है कि पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए भारी तादाद में मौजूद डेरा अनुयायियों को पंचकूला से हटाने के निर्देश दिए थे। हाईकोर्ट सुबह फिर इस याचिका पर सुनवाई करेगा जहां हरियाणा पुलिस को स्टेटस रिपोर्ट सौंपनी है। याचिका इस बात को लेकर लगाई गई है कि आखिर कैसे भारी तादाद में डेरा अनुयायी पंचकूला पहुंच गए।

Related posts

Share
Share