You are here

रुढ़िवादिता के खिलाफ बहुजन सशक्तिकरण संघ लखनऊ से आज करेगा संघर्ष का आह्वान

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

देश के बहुसंख्यक बहुजनों के साथ भगवाराज में बढ़ रहे अत्याचार, अंधविश्वास, सांप्रदायिकता, निरक्षरता और गरीबी के खिलाफ समाज को कुछ देने के अभियान यानि पे बैक टु सोसाइटी के तहत 10 सितंबर रविवार को लखनऊ में एक विचार गोष्ठी आयोजित की जाएगी।

अंधविश्वास और रुढ़िवादिता को समाप्त करने के लिए बहुजनों का शिक्षित होना जरुरी है, इसी सोच के तहत विश्व साक्षरता दिवस के उपलक्ष्य में लखनऊ में बहुजन सशक्तिकरण संघ के तत्वाधान में गांधी प्रेक्षागृह कैसबाग में ये कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।

बीएसएस पदाधिकारियों ने कहा कि आजादी के 60 साल बाद भी देश का बहुजन बहुसंख्यक तबका अत्याचार,अनाचार, दुराचार, अशिक्षा, अंधविश्वास और रुढ़िवादिता की जंजीरों से मुक्त नहीं हो पा रहा है। इन गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए हमें देश में बनाए जा रहे छद्म माहौल के प्रति लोगो को जागरूक करना होगा।

बहुजन समाज में जन्मे महापुरुषों के जीवन से प्रेरणा लेकर समाज के हर तबके तक सामाजिक शिक्षा और सामाजिक विज्ञान पहुंचाना होगा क्योंकि रटी रटाई शिक्षा से व्यक्ति को डिग्री तो मिल सकती है लेकिन मानसिक गुलामी से मुक्ति नहीं।

बीएसएस से जुड़े बहुजन क्रांतिकारी अजय कुमार डिंपल ने बताया कि कार्यक्रम में दिल्ली विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर एन सुकुमार की अध्यक्षता होगी। पुलिस महानिरीक्षक( आईजी) मिर्जापुर परिक्षेत्र प्रेम प्रकाश मुख्य अतिथि होंगे। इसके अलावा पीपीएस अधिकारी डॉक्टर बीपी अशोक मुख्य वक्ता होंगे।

जबकि आशा गौतम, डॉ. जयश्री राष्ट्रीय महासचिव बीएसएस, आरवाई यादव महासचिव उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग महासंघ, राजीव रत्न मौर्य, हाजी शब्बू राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बीएसएस, विजय त्रिशरण झारखंड प्रदेश प्रभारी बीएसएस विशिष्ट अतिथि होंगे।

ब्राह्मण वैज्ञानिक ने लगाया कुक निर्मला यादव पर भगवान को अपवित्र करने का आरोप, दर्ज कराया केस

UPPSC के गेट पर ‘यादव आयोग’ लिखने वालों के राज में APO पद पर 40 फीसदी ब्राह्मणों का चयन

भगवा गुंडई: BJP विधायक की धमकी, गौरी लंकेश अगर RSS के खिलाफ न लिखतीं तो आज जीवित होतीं

रामराज: BJP विधायक ने ठेकेदार से मांगी घूस, बोले बिना लेन-देन के तुम मेरे एरिया में काम नहीं कर सकते

भगवाराज: UP की बेसिक शिक्षा मंत्री का फरमान, रविवार को भी स्कूल खोलकर मनाएं PM मोदी का जन्मदिन

ये है मोदी नीति: देश में मिटा रहे मुगलों के निशान, विदेश में मुगल बादशाह की मजार पर सम्मान के फूल

Related posts

Share
Share