You are here

अब BHU के अनुशासन का जिम्मा संभाल रहे डॉ. ओंकार नाथ सिंह का बयान, छेड़खानी तो पूरे देश में हो रही है’

नई दिल्ली/वाराणसी, नेशनल जनमत ब्यूरो।

‘नेशनल जनमत’ लगातार इस बात को लिख रहा है कि कुलपति गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने अपनी दकियानूसी मानसिकता का इस्तेमाल करके बीएचयू जैसे प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान को अराजकता और जातिवाद का अड्डा बना दिया है।

अब जब कुलपति छेड़छाड़ कि शिकार लड़कियों के बार में बयान दे सकते हैं कि- लड़कियां रात में रेप कराने ही निकलती हैं। ऐसे कुलपति के राज में उनके सिपहसालारों से कैसे बयानों की उम्मीद की जा सकती है, आप खुद ही सोच लीजिए।

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छेड़खानी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात करने के बजाए विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर यानि कुलानुशासक का शर्मनाक बयान आया है।

एक टीवी चैनल से बात करते हुए बीएचयू के चीफ प्रॉक्टर ओंकार नाथ सिंह ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि यहां पर रोज-रोज छेड़खानी होती है, छेड़खानी तो पूरे देश में हो रही है, मगर हमने जब भी कोई छेड़खानी हुई है तो उस पर कार्रवाई की है।

उन्होंने बीएचयू में हुए बवाल में प्रशासन की लापरवाही को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, पीड़िता की शिकायत पर फौरी कार्रवाई हुई है। पीड़िता कार्रवाई से संतुष्ट भी है, उन्होंने आगे कहा, पीड़िता ने खुद ये बोला है कि लगातार उस पर दबाव बनाया जा रहा है।

बीएचयू चीफ प्रॉक्टर के मुताबिक विश्वविद्यालय में जो भी घटना हुई है उनमें बाहरी लोगों का हाथ है। उन्होंने आगे कहा, इस मामले को पूरी तरह से राजनीतिक रंग दिया गया है। उनके मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस दिन बनारस में ही मौजूद थे। उन्होने बीएचयू घटना में कुछ संगठनों का हाथ होने की बात भी कही।

रिपोर्ट में बीएचयू प्रशासन को ठहराया गया है दोषी- 

वहीं बीएचयू में विरोध प्रदर्शन की जांच रिपोर्ट आ गई है। मामले की जांच कर रहे वाराणसी के कमिश्नर ने घटना को उग्र रूप देने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन को दोषी ठहराया है। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कुलपति गिरीश चंद्र त्रिपाठी को दिल्ली तलब किया है।

आपको बता दें, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्रा के साथ हुई छेड़छाड़ के मामले में छात्र और छात्राओं ने विरोध प्रदर्शन किया था। छात्रों के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस कार्रवाई की गई थी, जिसमें पुलिस कर्मियों ने छात्रावास में जाकर छात्र-छात्राओं को बेरहमी से पीटा था। जिसके बाद विरोध प्रदर्शन और उग्र हो गया था।

बुंदेलखंड: बाबा साहेब की प्रतिमा पर डाली ‘जूतों की माला’, प्रदर्शनकारियों पर पुलिस का लाठीचार्ज

पाटीदारों और गुजरात की देन हैं सरदार पटेल’ जिन्होंने देश को संगठित कर आगे बढ़ाया- राहुल गांधी

अच्छे दिनः यूपी में प्राइमरी अध्यापक बनने की राह और भी कठिन, TET के बाद भी लिखित परीक्षा अनिवार्य

कमिश्वर की जांच में खुलासा, VC त्रिपाठी के गलत रवैये से भड़का छात्राओं का गुस्सा, दिल्ली तलब

देश की ही नहीं, विदेशी मीडिया को भी पता है कि अर्णब गोस्वामी का रिपब्लिक TV BJP का मुखपत्र है

पढ़िए ‘मोदी-शाह’ के काल में आपके भाजपाई होने के मायने …

योगी सरकार का डबल गेम, छोटे अधिकारियों पर कार्रवाई का मरहम, BHU के 1200 स्टूडेंट पर FIR दर्ज

 

 

 

 

 

 

 

Related posts

Share
Share