You are here

मानसिकता: BHU में समलैंगिकता का आरोप लगाकर लड़की को हॉस्टल से निकालने का मामला गर्माया

नई दिल्ली/वाराणसी, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के एक महिला महाविद्यालय में एक लड़की को हॉस्टल से बाहर निकालने का आदेश दिया गया है। ग्रेजुएशन कर रही इस छात्रा पर समलैंगिकता और अनुशासनहीनता का आरोप लगाया गया है। अब ये मामला तूल पकड़ता जा रहा है।

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के महिला महाविद्यालय (एमएमवी) से ग्रेजुएशन कर रही छात्रा को कॉलेज प्रशासन की तरफ से बाहर करने का आदेश दिया गया है। हालांकि कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि उस लड़की को कॉलेज छोड़ने के लिए नहीं कहा गया है। प्रशासन कहना है कि पिछले सप्ताह लड़की के खिलाफ समलैंगिता और अनुशासनहीनता की बात आई थी।

कॉलेज में गठित अनुशासन समिति की एक सदस्य ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, छात्रा में समलैंगिक प्रवृत्तियां देखने में आईं कॉलेज में अनुशासन और शांति बनाए रखने के लिए लड़की को सस्पेंड कर दिया गया।

ख़बर के मुताबिक एमएमवी में असिस्टेंट प्रोफेसर और कॉलेज के पांच छात्रावासों की मुख्य कोऑर्डिनेटर नीलम अत्री ने छात्रा के ख़िलाफ़ ये कार्रवाई हॉस्टल की करीब 16 छात्राओं द्वारा लिखित में शिकायत दर्ज करवाने के बाद की. उनके अनुसार निष्कासित की गई छात्रा बाकी लड़कियों को परेशान करती थी और उसकी बात न मानने पर आत्महत्या की धमकी देती थी

उन्होंने आगे कहा, पिछले सप्ताह उसके परिजनों ने कॉलेज को बताया था कि वे उसका इलाज करवाना चाहते हैं। सहायक प्रोफेसर ने आगे कहा, वह ठीक नहीं है। वह डिप्रेशन में है और उसने कई बार अपने आपको मारने की कोशिश की। इसलिए हमने उसके परिजनों को सलाह दी कि उसे अच्छे डॉक्टर के पास ले जाकर उसका इलाज कराएं।

कॉलेज के एक प्रोफेसर से संपर्क करने पर उन्होंने कहा, कि छात्रा में इस तरह की शुरुआती प्रवृत्तियां थी लेकिन हम इसे समलैंगिकता नहीं कह सकते। हमने उस छात्रा को कॉलेज से इसलिए सस्पेंड किया ताकि यहां पर शांति औौर अनुशासन कायम रहे।

प्रोफेसर ने आगे कहा, कुछ छात्रों ने लिखित शिकायत की। उनका कहना था कि छात्रा के व्यवहार से वे लोग अच्छा नहीं महसूस करते थे। हमने छात्रों से समायोजन बनाए रखने को कहा। लेकिन पिछले कुछ सप्ताह से जब बहुत सारी शिकायतें उसके खिलाफ आई तो हमने उसे हॉस्टल से बाहर करना ही मुनासिब समझा।

आधा दर्जन केस वाले सांसद को PM ने बनाया केन्द्रीय मंत्री, लोग बोले ‘साफ छवि’ भी मोदी जी का जुमला है

फर्रुखाबाद: बच्चों की मौत मामले में DM-CM आमने सामने, DM ने योगी सरकार के खिलाफ दर्ज कराई FIR

आखिर अपने स्टूडेंट की ही थीसिस चुराने वाले शिक्षक की याद में कौन मनाता है शिक्षक दिवस ?

मरते दम तक रामस्वरूप वर्मा के साथ ब्राह्मणवाद की कब्र खोदते रहे बिहार लेनिन बाबू जगदेव कुशवाहा

BJP-RSS को धर्म से नहीं जाति से पकड़िए, RSS को हिन्दुवादी कहने से उसका जातिवादी चरित्र छुप जाता है

Related posts

Share
Share