You are here

बिहार में निवेशकों की संख्या चार गुना बढ़ी, दुग्ध उद्योग पर नीदरलैंड करेगा निवेश

पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो

बिहार की एक छोटी सी घटना पर महागठबंधन सरकार को जंगलराज बताने वाले मीडिया के लिए बिहार से एक बुरी खबर है. दरअसल नीतीश की अगुवाई मे चल रही महागठबंधन सरकार में बिहार में निवेशकों की संख्या में 380 फीसदी उछाल आ गया है.

बीते 10 सालों में बिहार में सड़कों की स्थिति में सुधार हुआ है और साथ ही कानून व्यवस्था में भी सुधार हुआ है. बिहार की इन्हीं बदली परिस्थितियों का लाभ देश का उद्योग जगत भी उठाना चाहता है. इस बारे में ट्वीट करते हुए बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने लिखा कि लालू जी पर पड़े छापे की खबर को जोर-शोर से चलाने वाले बिहार के विकास की खबर को पचा नहीं पा रहे हैं. मीडिया ने बिहार के विकास की खबर जनता से छुपा ली.

बिहार में 400 करोड़ का निवेश करेगा नीदरलैंड-

बिहार में निवेश के उद्देश्य से नीदरलैंड के दो सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल निदेशक रेने हैवमैन एवं पीटर वैन स्टीजन बिहार आये थे. बीआईए के सदस्य मंसूर आलम के प्रयासों से नीदरलैंड से आये इन निवेशकों को बिहार निवेश के लिए काफी उपयुक्त जगह लगी. नीदरलैंड के प्रतिनिधियों ने बताया कि उनकी संस्था टेरीएग्रिक की राज्य में अगले पांच वर्षों में 4 सौ करोड़ रुपए का निवेश करने की योजना है. नीदरलैंड के निवेशक उच्च नस्ल एवं तकनीक आधारित गाय पालन, दूध आधारित उद्योग तथा वेयर हाउसिंग की अपनी विशेषज्ञता का लाभ बिहार को देंगे.गाय पालन से जुड़े उद्योग जैसे पैकेजिंग, उद्योग,दूध आधारित उत्पाद बनाने वाले उद्योग भी स्थापित करने में नीदरलैंड के प्रतिनिधियों ने रुचि दिखाई.

Related posts

Share
Share