You are here

‘पवित्र पार्टी’ BJP ने अज्ञात स्त्रोतों से लिया 461 करोड़ का चंदा, कांग्रेस को मिला सिर्फ 186 करोड़

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

भारतीय जनता पार्टी देश की दूसरी राजनीतिक पार्टियों को मिले चंदे को हमेशा शक की नज़रों देखती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी भ्रष्टाचार और पारदर्शिता की दुहाई देते हैं। वहीं जब बात बीजेपी को मिले अज्ञात स्रोतों से पैसे की होती है तो पार्टी चुप्पी साध लेती है।

इस दौरान बीजेपी नेताओं की सारी ईमानदारी भी छूमंतर हो जाती है। साल 2015-16 के दौरान बीजेपी को अज्ञात स्रोतों से 461 करोड़ रुपये का चंदा मिला। बीजेपी ने इसका खुलासा तक नहीं किया।

अज्ञात स्त्रोतों से बीजेपी को मिला सबसे ज्यादा चंदा- 

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी एडीआर ने हाल ही में राजनीतिक पार्टियों को मिले चंदे की रिपोर्ट पेश की है। यह रिपोर्ट 2015-16 में राजनीतिक पार्टियों के मिले अज्ञात स्रोतों के चंदे पर आधारित है। रिपोर्ट मे कहा गया है कि, 2015-16 में अज्ञात स्रोतों के माध्यम से बीजेपी को सबसे ज्यादा धन 461 करोड़ रुपये मिला। जो पार्टी आय का 81 फीसदी है।

अज्ञात स्रोतों के मिले चंदे के मामले में कांग्रेस दूसरे नंबर पर है। कांग्रेस को 2015-16 के दौरान 186 करोड़ रूपये अज्ञात स्रोतों के माध्यम से चंदे के रूप में मिले, जो पार्टी की आय का 71 फीसदी है।

एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में कहा, साल 2015-16 के दौरान बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों को अज्ञात स्रोतों से 646.82 करोड़ रुपये मिले। जो दोनों राजनीतिक दलों की आय का 77 फीसदी से अधिक है।

सत्तारूढ़ बीजेपी और कांग्रेस के स्वैच्छिक योगदान और कूपन बिक्री आय के प्रमुख साधन थे। वहीं 2015-16 वित्त वर्ष के दौरान दोनों पार्टियों की आय 832.82 करोड़ रुपये थी। एडीआर एक गैर सरकारी संगठन है जो चुनाव सुधारों के काम के लिए जाना जाता है।

एडीआर ने कहा, 2015-16 बीजेपी की घोषित आय 570.86 करोड़ और कांग्रेस की 261.56 करोड़ रुपये थी। एडीआर ने चुनाव आयोग को दिए गए खर्च के आधार पर राजनीतिक दलों की आय का विश्लेशण किया है।

राजनीतिक दल अज्ञात स्रोतों से मिले बीस हजार रुपये से ऊपर रुपये की जानकारी देते हैं। अगर यह धन इससे अधिक है तो पार्टियों को चंदा देने वाले के नाम का खुलासा करना पड़ता है।

एडीआर के मुताबिक, बीजेपी ने ज्यादातर धन अज्ञात स्रोतों से इकट्ठा किया। वित्त वर्ष 2015-16 में बीजेपी को 459.56 करोड़ रुपये मिले।
सात राष्ट्रीय पार्टियों को अज्ञात स्रोतों से मिले चंदे में बीजेपी सबसे आगे है।

किस पार्टी को कितना मिला चंदा- 

बीजेपी को 570.86 करोड़, कांग्रेस को 261.53 करोड़, सीपीएम को 107.48 करोड़, बीएसपी को 47.39 करोड़, तृणमूल कांग्रेस को 34.58 करोड़ एनसीपी को 9.14 करोड़, और सीपीआई को 2.18 करोड़ का चंदा वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान ज्ञात और अज्ञात स्रोतों से मिला।

जिन भक्तों को खबर पर संदेह हो वो लिंक देखें- 

http://www.hindustantimes.com/india-news/bjp-got-rs-461-cr-congress-received-rs-186-cr-from-unknown-sources-in-fy16-report/story-cajYLIICpbjX91QIfiuH7N.html

संघ इम्पैक्ट: तो क्या अब मंत्रोच्चारण के सहारे देश की सीमाओं की हिफाजत करेंगी रक्षा मंत्री !

संघी एजेंडा: OBC/SC/ST के खिलाफ साजिश,आरक्षण खात्मे से सरकारी नौकरी खत्म, नोटबंदी से प्राइवेट नौकरी खत्म

 जुमला साबित हुआ PM का भ्रष्टाचार मुक्ति का वादा, MP में करप्शन के खुलासे पर IAS दंपति का तबादला

आधा दर्जन केस वाले सांसद को PM ने बनाया केन्द्रीय मंत्री, लोग बोले ‘साफ छवि’ भी मोदी जी का जुमला है

फर्रुखाबाद: बच्चों की मौत मामले में DM-CM आमने सामने, DM ने योगी सरकार के खिलाफ दर्ज कराई FIR

BJP-RSS को धर्म से नहीं जाति से पकड़िए, RSS को हिन्दुवादी कहने से उसका जातिवादी चरित्र छुप जाता है

Related posts

Share
Share