You are here

16 महीने की BJP सरकार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, पार्टी सांसद बोले रिश्वत लेते हैं हमारे मंत्री

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

बीजेपी सरकारों की पवित्रता और ईमानदारी की पोल अब उनके अपने ही नेता खोल रहे हैं। बीजेपी के दो पूर्व केन्द्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी केन्द्र सरकार की नीतियों पर तो पहले ही सवाल उठा चुके हैं। अब पार्टी के ही सांसद के आरोप लगाने के बाद 16 महीने की असम की बीजेपी  सरकार सवालों के घेरे में है।

दरअसल पार्टी सांसद राम प्रसाद शर्मा ने बुधवार को एक स्थानीय टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में राज्य के सिंचाई और हथकरघा मंत्री रंजीत दत्ता पर आरोप लगाया कि वो ठेकेदारों से ठेका देने के एवज में दस फीसदी रिश्वत लेते हैं। इतना ही नहीं सांसद ने कहा कि राज्य के कुछ और मंत्री भी कम से कम दस फीसदी रिश्वत लेते हैं।

सोशल मीडिया पर सांसद का बयान वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने सांसद से सबूतों के साथ अपने दावे को पेश करने को कहा है। साथ ही कहा कि सांसद के खिलाफ अगर ऐसे सबूत मिले तो वो उनके खिलाफ भी सख्त एक्शन लेंगे।

गौरतलब है कि ने सांसद शर्मा ने बीते मंगलवार को एक स्थानीय न्यूज चैनल से कहा था कि राज्य के कुछ मंत्री रिश्वत लेते हैं। इनमें से रंजीत दत्ता की उन्हें पूरी जानकारी है कि वो रिश्वत लेते हैं। खुद मेरे एक परिचित ने उन्हें दस फीसदी रिश्वत देकर ठेका हासिल किया था।

राज्य में कुछ और भी मंत्री हैं जो रिश्वत लेते हैं। हालांकि मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भ्रष्ट नहीं हैं, उन्हें आरोपों की जांच अवश्य करानी चाहिए। हम जनता से सरकार में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाने का वादा करके आए हैं।

सीएम सोनेवाल ने कहा, ‘हमारी सरकार भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। उनके पास कोई सबूत है तो दिखाए हम उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेंगे। हम भ्रष्टाचार के साथ समझौता नहीं करेंगे। यहां तक अगर सूबे के सीएम के खिलाफ भी कोई सबूत है तो वो इसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करेंगे।’

मालूम रहे कि राज्यमंत्री दत्ता सूबे में जिस विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं वो सांसद आरपी शर्मा के लोकसभा क्षेत्र तेजपुर में आती है। दूसरी तरफ दत्ता ने सभी आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने कहा है कि बिना तथ्यों के बयान देना सांसद की आदत है।

उनके इस बयान ने पार्टी और सरकार की छवि को प्रभावित किया है। मैं उनके खिलाफ पहले ही भाजपा राज्य इकाई में शिकायत दर्ज करवा चुका हूं। उन्होंने मेरे खिलाफ झूठे और निराधार आरोप लगाए हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि पार्टी उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेगी।

दर्दनाक: BHU के अस्पताल में प्रतिबंधित गैस से बेहोश होते थे मरीज, BJP विधायक की कंपनी से आती थी गैस

BJP के भीतर से ही विरोध के स्वर, यशवंत सिन्हा के बाद अरुण शौरी बोले, नोटबंदी-GST भ्रष्टाचार की योजना

बुंदेलखंड: सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग कर रहे किसानों को MP पुलिस ने कपड़े उतरवाकर पीटा

गुजरात के रामराज में दलितों को मूंछ रखने का अधिकार नहीं, अब ब्लेड से हमला, दलितों ने बनाई WHATSAPP DP

देश की गिरती अर्थव्यवस्था के जितने जिम्मेदार अरुण जेटली हैं उससे कहीं ज्यादा PM मोदी भी हैं

30 साल देश की सेवा करने वाले सैनिक अजमल हक से मांगा जा रहा है भारतीय होने का सबूत

अशोक विजयदशमी पर गुजरात में 300 दलितों ने अपनाया बौद्ध धर्म, बाबा साहेब भी इसी दिन बने थे बौद्ध

योगी सरकार का अड़ियल रुख, पशु चिकित्सकों का रोका वेतन, पदाधिकारी बोले झुकेंगे नहीं, इस्तीफा देंगे

Related posts

Share
Share