You are here

बीजेपी सरकार का फरमान, दो से ज्यादा बच्चे हुए तो न मिलेगी सरकारी नौकरी, न लड़ पाओगे चुनाव

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो। 

बीजेपी सरकार ने एक जनसंख्या रोकथाम के नाम पर एक चौंकाने वाला फैसला लिया है। जिसके तहत ऐसे लोग पंचायत, नगरपालिका चुनाव और सरकारी नौकरी के लिए अपात्र हो जाएंगे जिनके दो से ज्यादा बच्चे होंगे।

असम में मुख्यमंत्री सर्वांवद सोनोवाल के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार की नई जनसंख्या पॉलिसी ने देश में एक नई बहस को जन्म दे दिया है। दरअसल असम विधान सभा में 15 सितंबर को लंबी बहस के बाद ये जनसंख्या को पॉलिसी को लेकर कानून पारित किया गया। अ

सम के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने विधानसबा में 15 सितंबर को ही विधेयक पेश किया है। इस विधेयक के पारित होने के बाद असम के सभी सरकारी कर्मचारियों पर दो बच्चों की पॉलिसी लागू हो जाएगी।

असम में नए कानून के मुताबिक, शादी के लिए निर्धारित न्यूनतम उम्र का पालन न करने वालों को भी सरकारी नौकरी के लिए अयोग्य करार दिया जाएगा।

सरकार ने बढ़ती जनसंख्या को वजह बताया- 

दरअसल असम की जनसंख्या की बात की जाए तो साल 2001 की जनगणना में 2.66 करोड़ थी। साल 2011 की जनगणना में राज्य की जनसंख्या 3.12 करोड़ थी।

असम सरकार ने हवाला दिया है कि पिछले 10 वर्षों में जनसंख्या में 17.07 फीसदी की वृद्धि हुई। इतनी तेजी से बढ़ती जनसंख्या को राज्य वहन करने में अक्षम है।

असम के इतिहास में यह पहली बार हुआ है जब राज्य में भाजपा की सरकार आई हो। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने विधान सभा में कहा, राज्य की नई जनसंख्या नीति जनसंख्या वृद्धि पर लगाम लगाने और सामाजिक-आर्थिक और स्वास्थ्य बेहतरी के लिए बनाई गई है।

उन्होंने आगे कहा कि वह केंद्र से आग्रह करेंगे कि ऐसा ही कानून बनाया जाए और जिनके दो से ज्यादा बच्चे हैं वे लोग चुनाव न लड़ सकें।

आरक्षण का लाभ लेने वाले पिछड़े, क्षत्रिय बनकर, मनुवादियों के खिलाफ संघर्ष को कमजोर कर रहे हैं

महाराष्ट्र: बकरीद पर कुर्बान हुए जानवरों की ‘तेरहवीं’ मना रहे बजरंगियों को पुलिस ने रोका

ब्रिटेन में बोले नोबेल प्राप्त वैज्ञानिक, मांस की राजनीति छोड़ विज्ञान-तकनीक पर ध्यान दे मोदी सरकार

रामराज: अपहरण करके 5 दिन तक पटेल युवती से गैंगरेप,आरोपी ठाकुरों पर केस दर्ज नहीं कर रही UP पुलिस

पूर्व DGP का सनसनीखेज खुलासा, चारा घोटाले में लालू यादव को साजिशन फंसाया गया !

पटेल-दलित वोट खिसकने की आहट से डरी बीजेपी, OBC सम्मेलनों में फिर से बोलेगी ‘PM मोदी OBC हैं’

आप लिपटे रहिए धर्म की चासनी में, यहां देश में पहली बार जाति के नाम पर बन गया ‘ब्राह्मण आयोग’

 

Related posts

Share
Share