You are here

क्या कर्मकांड के सहारे देश चलाएगी BJP, कृषि मंत्री बोले हनुमान चालीसा पढ़ने से किसानों को राहत मिलेगी

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

भारतीय जनता पार्टी की सरकार केन्द्र में हो या प्रदेश में उनके एजेंडे में धर्म, कर्मकांड और पाखंड शामिल जरूर होते हैं। कभी आरएसएस के लोग गोबर से बंकर बनाने की सलाह देते हैं, तो कभी बीजेपी नेता ओलावृष्टि होने पर हनुमान चालीसा पाठ की।

मध्य प्रदेश में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बीजेपी के पूर्व भाजपा विधायक रमेश सक्सेना किसानों को हनुमान चालीसा पढ़ने का सुझाव देते नज़र आए थे, जिसका मध्य प्रदेश के कृषि राज्य मंत्री बालकृष्ण पाटीदार ने समर्थन किया है।

प्रदेश मंत्रिमंडल में हाल ही में शामिल हुए नए मंत्री कृषि राज्य मंत्री बालकृष्ण पाटीदार ने भी पूर्व विधायक की इस अपील का समर्थन किया है।

प्रदेश में पिछले 24 घंटों में हुई ओलावृष्टि और बारिश के कारण फसलों को नुकसान पहुंचने की ख़बरों के बाद भाजपा नेता और सीहोर से पूर्व विधायक रमेश सक्सेना ने बीते सोमवार को एक कथित वीडियो के ज़रिये किसानों को सुझाव दिया है कि वे प्राकृतिक आपदा से अपनी फसलों के बचाव के लिये प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करें।

प्राकृतिक आपदा का समाधान हनुमान चालीसा- 

सक्सेना का यह कथित वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया है. उन्होंने वीडियो में किसानों से अपील करते हुए कहा है, ‘मौसम विज्ञानी कह रहे हैं कि 4-5 दिन में ओलावृष्टि या बारिश के रूप में प्राकृतिक आपदा आ सकती है.

इसका केवल एक समाधान है कि सामूहिक तौर पर अपने-अपने गांव में हनुमान चालीसा का पाठ किया जाए. वहीं दूसरी ओर पूर्व विधायक की इस अपील का कृषि राज्य मंत्री पाटीदार ने समर्थन किया है.

पूर्व विधायक की इस अपील पर प्रदेश के कृषि राज्य मंत्री ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मीडिया से कहा, ‘इसमें कुछ भी ग़लत नहीं है. हनुमान चालीसा के पाठ से किसानों को राहत मिलेगी और उनका आत्मबल बढ़ेगा.’

बता दें कि बीते रविवार को मध्य प्रदेश के अलग अलग हिस्सों में बारिश और ओलावृष्टि की वजह से फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है।

बारिश और ओलावृष्टि की वजह से मध्य प्रदेश के भोपाल, सीहोर, विदिशा, नरसिंहपुर, रायसेन, हरदा, होशंगाबाद, गुना और देवास ज़िलों में फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है।

रिपोर्ट के अनुसार, भोपाल, सीहोर, विदिशा और होशंगाबाद सहित कई ज़िलों में गेहूं की खड़ी फसल गिर गई है और चने की फसल भी बर्बाद हो गई है। विशेषज्ञों के अनुसार, इस मौसम में बारिश से आम की फसल को भी नुकसान पहुंचता है।

CM के स्वजातीय गुंडों ने दलित छात्र की सरेआम पीट-पीटकर हत्या कर दी, विरोध में देश भर में प्रदर्शन

पार्टी की हार पर BJP विधायक बोले, जैसा किया है तूने, वैसा ही भरेगा, तेरी बदी का बदला, तुझको यहीं मिलेगा

धार्मिक मुख्यमंत्री के राज में UP का स्वास्थ्य, नीति आयोग के सूचकांक में देश भर में सबसे खराब

15 दलों के 114 सांसदों ने, अमित शाह केस की सुनवाई कर रहे जज लोया मौत की निष्पक्ष जांच की मांग की

1857 की जनक्रांति के जनक थे शहीद धन सिंह कोतवाल, मंगल पांडे का मेरठ से कोई वास्ता नहीं था !

 

Related posts

Share
Share