You are here

उत्तराखंड: BJP नेता का कारनामा, टेंपो नंबर को डंपर पर डालकर तीन साल से वन निगम को लगा रहे थे चूना

देहरादून/रामनगर, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

पूरे देश के बीजेपी शासित राज्यों में तथाकथित रामराज्य और भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस की बात कही जाती है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी अपनी सरकार को पवित्र बताते नहीं थकते। वहीं उन्हीं के पार्टी के नेता फर्जी दस्तावेज से एक टेंपो के नंबर को डंपर का नंबर बना देते हैं।

मामला उधम सिंह नगर जिले के बाजपुर क्षेत्र का है। यहां बीजेपी के पूर्व जिला पंचायत सदस्य कुलविंदर सिंह उर्फ किंदा किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। किंदा की पहचान एक नेता से ज्यादा विवादों में रहने वाले व्यक्ति के रूप में रहती है।

इनके ऊपर तमाम मामले पहले से चल रहे हैं और आगे भी शायद चलते रहेंगे क्योंकि यह सत्ता पक्ष के नेता है और एक कैबिनेट मंत्री के चहेते भी हैं। कुलविंदर सिंह किंदा ने हरियाणा में चल रहे एक टेंपो के नंबर को डंपर पर डालकर रामनगर में वन निगम कार्यालय में रजिस्टर्ड करा दिया और तीन साल सरकार को चूना लगाया।

मामला साल 2014 का है तब से वन निगम में डंपर एक टैंपो के नंबर पर चलता रहा। कुलविंदर सिंह किंदा की किस्मत खराब थी या कानून का डंडा कड़क था 1 दिन डंपर बाजपुर कोतवाली की सुल्तानपुर पट्टी चौकी में पकड़ा गया और परत-दर-परत इस गोरखधंधे की पोल खुलती चली गई।

यह कोई अकेला मामला नहीं है इस प्रकार के तमाम मामले अभी भी हैं जिनकी जांच होनी बाकी है। एसएसपी उधम सिंह नगर सदानंद दाते की मानें तो इस मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है।

दस्तावेजों की जांच करने के बाद आरोपी की गिरफ्तारी की जाएगी और अगर इस पूरे मामले में कोई सरकारी अधिकारी की मिलीभगत पाई जाती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अब देखना यह है कि इस मामले में भारतीय जनता पार्टी और उसके प्रदेश अध्यक्ष क्या कार्रवाई करते हैं क्योंकि पिछली सरकार में जब यही महाशय कांग्रेस में हुआ करते थे और उन्होंने उस वक्त ट्रेनी आईएएस रही कल्याणी के ऊपर हमला किया था।

तब भारतीय जनता पार्टी के नेता चीख-चीखकर गिरफ्तारी की बात करते थे और कानून की दुहाई देते थे। आज किंदा बीजेपी में जाकर पवित्र हो गए लगता है।

( रामनगर से दानिश खान की रिपोर्ट ) 

साहेब की अपील भी नहीं सुन रहे भक्त, गो-तस्‍करी के शक में दो मुस्लिमों की पिटाई, एक की मौत

BJP शासित मध्य प्रदेश के चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी की हार, कांग्रेस बड़े अंतर से जीती

BJP के मंत्री बोले कारोबारियों को छोड़ो, बड़े-बड़े CA भी नहीं समझ पा रहे GST का खेल

नोटबंदी-GST इंपैक्ट: कर्मचारियों को गाड़ी-फ्लैट देने वाले गुजराती कारोबारी इस बार बोनस भी नहीं दे पाए

गुजरात चुनाव में हार्दिक इफैक्ट : पटेलों के गढ़ सौराष्ट्र में BJP को 23 फीसदी वोटों का नुकसान

गुजरात में नाराज पाटीदारों ने किया BJP का बहिष्कार, गांवों में BJP नेताओं के घुसने पर प्रतिबंध

 

Related posts

Share
Share