You are here

भोजपुरी फिल्म का पोस्टर फेसबुक पर पोस्ट करके BJP नेता बोलीं, देखो बंगाल में मुस्लिम क्या कर रहे हैं ?

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

इन दिनों बंगाल में चल रहे साम्प्रदायिक उन्माद पर सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा हो रही है। कुछ लोग इसी मुद्दे पर सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक उन्माद भी भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों को शायद इस बात का अंदाजा ही नहीं है कि सोशल मीडिया पर लिखी गई किसी बात या डाली गई किसी फोटो का कितना गहरा असर हो सकता है। ऐसे लोगों को शायद इस बात का भी अंदाजा नहीं है कि बंगाल दंगा भी सोशल मीडिया पर उड़ी अफवाह की वजह से ही शुरू हुआ है।

इसे भी पढ़ें..रायबरेली में मारे गए हमलावरों को अपराधी कहते ही ब्राह्मण संगठन बने स्वामी प्रसाद मौर्या के दुश्मन

फोटो डालकर बोलीं देखो बंगाल में क्या हो रहा है- 

हरिणाया में भाजपा से जुड़ी विनीता मलिक ने बिना जाने समझे बंगाल के साम्प्रदायिक उन्माद से जोड़कर एक फिल्मी पोस्टर सोशल मीडिया पर डालकर दंगा भड़काने की कोशिश की है। जानकारी के मुताबिक किसी ब्लॉग से उन्होंने ये तश्वीर उठाई और उसे बंगाल की फोटो बताकर फेसबुक पर लगा दिया। इतना ही नहीं नेत्री बोलीं कि देखों मुस्लिम बंगाल  में क्या कर रहे हैं।

फिल्म ‘औरत खिलौना नहीं’ की तस्वीर है- 

आपको बता दें कि विनीता मलिक ने जिस फोटो को फेसबुक पर शेयर किया है वो भोजपुरी फिल्म ‘औरत खिलौना नहीं’ का मशहूर दृश्य है। जिसमें कोई नेता टाइप का आदमी किसी महिला के बदन से उसकी साड़ी खीचता दिख रहा है। भाजपा नेत्री विनीता मलिक ने इस फोटो की बिना सत्यता जांचे ये फोटो फेसबुक और ट्विटर एकाउंट पर शेयर कर दी।

हकीकत यह है कि इस भाजपा नेत्री ने उस तस्वीर को आठ घंटे पहले फेसबुक पर पोस्ट किया था जो अभी भी उनके फेसबुक टाइमलाईन और ट्विटर पर मौजूद है। तस्वीर पर लोग कमेंट करते रहे कि यह तस्वीर भोजपुरी फिल्म का दृश्य है।

इसे भी पढ़ें…लालू ने मोदी पर हमला क्या किया , सरकारी तोते सीबीआई ने लालू के ठिकानों पर छापा मार दिया

आपको बता दें कि जबसे हरियाणा में भाजपा की सरकार बनी हैं वहां साम्प्रदायिक घटनाएं बढ़ गई हैं। अभी ईद से तीन दिन पहले ही हरियाणा के पलवल में प्रतिबंधित मांस ले जाने का आरोप लगाकर ट्रेन में तीन मुस्लिम लड़कों पर चाकू से हमला कर दिया गया। जिसमें एक लड़के की मौत हो गई। औऱ अब सोशल मीडिया पर इस तरह के भ्रामक पोस्टर डालकर विनीता मलिक जैसे लोग अपनी नादानी में ही सही पर धर्म विशेष के खिलाफ नफरत का माहौल पैदा कर रहे हैं।

Related posts

Share
Share