You are here

भगवा गुंडई: BJP विधायक की धमकी, गौरी लंकेश अगर RSS के खिलाफ न लिखतीं तो आज जीवित होतीं

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

हिंदुत्वादी कट्टरपंथियों के खिलाफ लिखने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद राजनीति उबाल पर है। बीजेपी के एक विधायक के बयान ने इस मामले को नया मोड़ दे दिया है। बीजेपी विधायक ने कहा कि आरएसएस के खिलाफ लिखने के कारण उनकी हत्या हुई।

कर्नाटक में बीजेपी के पूर्व मंत्री और मौजूदा विधायक जीवराज ने कहा है कि, अगर गौरी लंकेश राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों की मौत के जश्न के बारे में न लिखतीं तो शायद जिंदा होतीं। जीवराज कर्नाटक की श्रंगेरी विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक हैं।

चिकमंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान भाजपा विधायक डीएन जीवराज ने कहा, गौरी लंकेश जिस तरह लिखती थीं, वो बर्दाश्त के बाहर था। वह मेरी बहन जैसी हैं लेकिन जिस तरह उन्होंने लिखा, वो स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने ये बातें बीजेपी कार्यकर्ताओं की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहीं।

डीएन जीवराज कर्नाटक में 2008-13 के बीच बीजेपी की सरकार में मंत्री रह चुके हैं उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए आगे कहा, कांग्रेस की सरकार के दौरान कई संघ के कार्यकर्ता मार दिए गए लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

उन्होंने आगे कहा, कांग्रेस की सरकार में अभी तक 11 आरएसएस के कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं। जीवराज के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा, इसका क्या मतलब है? इससे क्या अनुमान लगाया जाए?

क्या इसका मतलब ये नहीं है कि वो लोग इसके पीछे हैं?’ आपको बता दें, गौरी लंकेश साप्ताहिक मैग्जीन ‘लंकेश पत्रिके’ की संपादक थीं। इसके अवाला वह अखबारों में कॉलम लिखती थीं। पिछले दिनों बेंगलुरु में अज्ञात हमलावरों गौरी लंकेश की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी।

रामराज: BJP विधायक ने ठेकेदार से मांगी घूस, बोले बिना लेन-देन के तुम मेरे एरिया में काम नहीं कर सकते

भगवाराज: UP की बेसिक शिक्षा मंत्री का फरमान, रविवार को भी स्कूल खोलकर मनाएं PM मोदी का जन्मदिन

भगवाराज: ठाकुरों ने दलित लड़कियों से की छेड़छाड़, भड़क उठी जातीय हिंसा,अंबेडकर प्रतिमा तोड़ी

ये है मोदी नीति: देश में मिटा रहे मुगलों के निशान, विदेश में मुगल बादशाह की मजार पर सम्मान के फूल

 OBC/SC/ST के खिलाफ साजिश,आरक्षण खात्मे से सरकारी नौकरी खत्म, नोटबंदी से प्राइवेट नौकरी खत्म 

 

Related posts

Share
Share