You are here

ठाकुर ग्राम प्रधान को BJP विधायक सुरेश तिवारी की धमकी, इस युग का परशुराम हूं जमीन में गाड़ दूंगा

नई दिल्ली/देवरिया। नेशनल जनमत ब्यूरो।

यूपी में सीएम योगी के नेतृत्व में बीजेपी सरकार बनने के बाद से ही भगवा खेमे से जुड़े विधायकों, सांसदों और यहां तक कि हिन्दू युवा वाहिनी, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं में सत्ता का नशा छा गया है। हैरत की बात ये है कि कानून व्यवस्था बिगाड़ने में बीजेपी के विधायक और सांसद भी पीछे नही हैं। प्रदेश भर में ऐसी वारदातें अब आम हो गई हैं।

कल ही बीजेपी के देवरिया जिले की रामपुर कारखाना खास से विधायक कमलेश शुक्ला पर  मकान कब्जा करवाने का आरोप लगा था ब देवरिया जिले के बरहज विधायक पर एक ग्राम प्रधान को जान से मारकर जमीन में गाड़ देने की धमकी का आरोप लगा है।

इसे भी पढ़ें…मोदी की पीसी पर लालू का हमला, झूठा कौआ मंदिर पर जाकर ही क्यों न बैठ जाए रहेगा कौआ ही

इसे भी पढ़ें-बीजेपी विधायक कमलेश शुक्ला के साथ मकान पर कब्जा करने पहुंचे थे महुआ के मालिक, थाने पहुंच गए

विधायक ने कहा मैं इस युग का परशुराम हूं क्षत्रियों का संहार करने आया हूं- 

मामला देवरिया जिले की बरहज विधानसभा से भाजपा के विधायक सुरेश तिवारी का है। आरोप है कि सत्ता के नशे में चूर विधायक सुरेश तिवारी ने रुद्रपुर तहसील के लंगड़ा बाजार गांव के प्रधान घनश्याम सिंह को मारकर जमीन में गाड़ देने की धमकी दी है। खबरों के मुताबिक भाजपा विधायक ने घनश्याम सिंह से कहा है कि मैं इस युग का परशुराम हूं और जिस तरह से परशुराम ने 21 बार क्षत्रियों का पृथ्वी से संहार किया उसी तरह मैं भी तुम क्षत्रियों का संहार करुंगा।

क्या है मामला- 

विधायक के करीबी रंगनाथ पांडेय व हरिशंकर पांडेय का जमीन संबंधी विवाद ग्राम प्रधान से चल रहा है। इस मामले में पांडेय पक्ष पहले भी ग्राम प्रधान के ऊपर  हमला कर चुका है। इस हमले में ग्राम प्रधान के भाई को गंभीर  चोट आई थी जिसकी तहरीर थाने में दे दी गई थी। इसी मामले में पैराकारी करने के लिए विधायक  सुरेश तिवारी ने ग्राम प्रधान को फोन किया था.।

सत्ता पक्ष का विधायक होने के कारण पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई- 

घनश्याम सिंह ने इस मामले की पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए विधायक सुरेश तिवारी से अपनी जान-माल की सुरक्षा की पुलिस से गुहार लगाई है पर मामला सत्ता पक्ष के विधायक से जुड़ा होने के कारण पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

इसे भी पढ़ें-राजनीतिक गौभक्त- केरल में सहकारी संस्था बनाकर गौमांस बेच रहे हैं बीजेपी पदाधिकारी

सहारनपुर सांसद  राघवलखन पाल शर्मा  ने एसएसपी लव कुमार के घर में घुसकर तोड़फोड़ की। मुरादाबाद से भाजपा सांसद ठाकुर सर्वेश सिंह पर एक दलित अधिकारी को जूते से पीटने का आरोप लगा था। इसके बाद मुरादाबाद के ही भाजपा नगर अध्यक्ष आशीष गुप्ता पर थाने में दरोगा को थप्पड़ मारने का भी आरोप लगा। बुलंदशहर में भाजपा नेता का डीएसपी श्रेष्ठा ठाकुर ने चालान काट दिया तो भाजपा नेता ने उनके साथ बदतमीजी की और सड़क पर जाम लगाने की कोशिश की। जब गिरफ्तार किया गया तो डीएसपी का ही ट्रांसफर कर दिया गया।

बरेली में हिन्दू युवा वाहिनी और बीजेपी कार्यकर्ताओं ने थानेदार की बर्दी फाड़ दी। ऐसे सैकड़ों मामले सिर्फ तीन महीने में ही बीजेपी नेताओं पर दर्ज हो चुके हैं।

Related posts

Share
Share