You are here

मोदी की काशी में BJP विधायक सौरभ श्रीवास्तव की दबंगई, रुखसाना पर बना रहे हैं घर बेचने का दवाब

नई दिल्ली/ वाराणसी। नेशनल जनमत ब्यूरो।

यूपी में योगी की अगुआई में भाजपा की सरकार बनते ही भगवाधारियों की दबंगई की खबरें बढ़ती जा रही हैं। कानून व्यवस्था सुधारने की बजाए पार्टी के विधायक, सांसद और यहां तक कि हिन्दू युवा वाहिनी जैसे तमाम भगवाधारी संगठनों के कार्यकर्ता ही दंबगई पर उतरे चुके हैं।

सहारनपुर से बीजेपी सांसद राघव लखनपाल शर्मा पर एसएसपी लव कुमार के घर पर भीड़ से हमला कराने का आरोप लगा। मुरादाबाद के सांसद ठाकुर सर्वेश सिंह पर एक दलित अधिकारी को जूते से पीटने का आरोप भी लगा। अभी हाल में ही देवरिया जिले की दो अलग-अलग विधानसभाओं के विधायकों कमलेश शुक्ला और सुरेश तिवारी पर मकान कब्जा करने और ग्राम प्रधान को धमकी देने का आरोप लगा था।

इसे भी पढ़ें…लालू यादव को मोदी-शाह का अंहकार तोड़ना है तो सीना ठोककर बनना होगा भारत का जैकब जुमा

वाराणसी कैंट विधायक पर आरोप- 

उत्तर प्रदेश के वाराणसी कैंट के बीजेपी विधायक सौरभ श्रीवास्तव पर आरोप है कि उन्होंने कुछ होटल मालिकों के साथ मिलकर एक गरीब महिला को जबरन अपना मकान बेचने का दबाव डाला है। वाराणसी के देव मुहल्ले की रहने वाली पीड़ित महिला रूखसाना ने आरोप लगाया है कि बीजेपी नेता और होटल मालिक मकान नहीं बनने दे रहे हैं। रूखसाना का कहना है कि होटल मालिक को विधायक का सपोर्ट है।

पीड़िता के मुताबिक बड़ा मुहल्ले में उनका पुश्तैनी मकान है जिसमें सालों से लोहे का सेड डालकर उनका परिवार गुजर बसर कर रहा है। पुरानी होने के चलते सेड में जगह-जगह छेद हो गया था और पहली ही बारिश में पानी घरों के अंदर सेड से जाने लगा। परिवार के लोगों ने चटिया की ढलाई करा कर समस्या से निजात पाने की कोशिश की तो काम शुरु होते ही होटल मालिक ने छत की ढ़लाई रूकवा दी और मकान बेचने को कहा। रूखसाना का आरोप है कि बीजेपी नेता और होटल मालिक के दवाब में उसका मकान नहीं बनने दिया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें…CBI छापों के बाद लालू की मोदी – शाह को चेतावनी, फांसी पर चढ़ जाऊंगा पर दोनों का अंहकार जरूर तोड़ूंगा

मंत्री के सामने रो दी रुखसाना- 

रिपोर्ट के मुताबिक गोदौलिया चौराहे पर जब कावड़ यात्रा की तैयारियों का जायजा लेने राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी अधिकारीयों के साथ पहुंचे तो रूखसाना ने अपना दर्द सुनाना चाहा लेकिन जब मंत्री ने ध्यान नहीं दिया तो वह फूट- फूटकर रोने लगी। बाद में अधिकारियों ने आश्वासन देकर रुखसाना को वहां से हटा दिया।

Related posts

Share
Share