You are here

BJP नेता का कब्जा हटवाने पहुंचे IAS अफसर से मोदी की सांसद बोली, ‘तुम्हारा जीना मुश्किल कर दूंगी’

नई दिल्ली/लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

समाजवादी पार्टी को गुंडों की पार्टी कहकर और राजनीतिक पवित्रता की दुहाई देकर सत्ता में आई भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के सर पर सत्ता का नशा सर चढ़कर बोल रहा है। कहीं मोदी जी के सांसद तो कहीं योगी जी के विधायक सत्ता के मद में चूर होकर अधिकारियों को धमकाते नजर आते हैं।

फिलहाल खबर उत्तर प्रदेश के बाराबंकी के से है। यहां भाजपा सांसद प्रियंका सिंह रावत ने एक आईएएस अधिकारी को धमकी दी है। सांसद ने कहा कि वह उसकी जिंदगी नर्क बना देंगी। जिस समय वो ये बात कह रहीं थीं अधिकारी का कैमरा ऑन था और ये बात रिकॉर्ड हो गई।

घटना के दौरान ट्रेनी आईएएस अजय द्विवेदी अपने दस्ते के साथ बाराबंकी के एक गांव में अतिक्रमण हटवाने के लिए निकले थे। मगर बीच में सांसद ने हस्तक्षेप किया और उन्हें धमकी दे डाली।

मामला मंगलवार का है। एसडीएम के रूप में कार्यरत अजय यहां के चैला गांव में पहुंचे थे, जहां सरकारी स्कूल और तालाब पर कुछ लोगों ने अवैध कब्जा कर लिया था। आरोप है कि कब्जा स्थानीय भाजपा नेता आलोक सिंह ने कर रखा था।

सरकारी दस्ता जब घटनास्थल पर पुलिस के साथ पहुंचा तो वहां भीड़ जुट गई। दोनों पक्षों में बहस होने लगी, जिसके बाद महिला सांसद वहां अपने समर्थकों के साथ आ गईं। वे इसी बाबत अधिकारी पर चिल्लाने लगीं और उससे जिरह करने लगीं।

सांसद ने धमकाते हुए कहा कि, “आपके सामने जब एक जनप्रतिनिधि खड़ी है, तब आपको प्रोटोकॉल याद रखना चाहिए। अगर मेरे सहयोगियों को जरा सी भी दिकक्त हुई, तो जीना मुश्किल कर दूंगी।”

यह पहला मौका नहीं है, जब महिला सांसद किसी विवाद से घिरी हों। वह इससे पहले कैमरे में पुलिसकर्मी की खाल खिंचवाने देने की धमकी देते दिखी थीं। उनके इस बयान के पीछे की वजह पुलिसकर्मी का रवैया था, जो उन्हें रास नहीं आया था।

सांसद से जब हाल में आइएएस अधिकारी के मामले को लेकर स्पष्टीकरण मांगा गया, तो उन्होंने इस पर अफसोस भी नहीं जाहिर किया।

PM मोदी ने जरूरी मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए गुजरात चुनाव में पाकिस्तान को घसीटा है- शरद पवार

नीतीश की स्कीम पर मोदी सरकार ने लगाई रोक, रेल कर्मचारियों के बच्चों को नहीं मिलेगा VRS का लाभ

‘भारत माता की जय’ से लोगों को बेवकूफ बनाया जा रहा है, लेकिन मैंने बेवकूफ बनने से मना कर दिया है !

क्या ये बदलाव की आहट है? अब शिवसेना भी बोली, गुजरात चुनाव में मोदी ने खुद को छोटा बना लिया है

अगर देश के PM सच बोल रहे हैं, तो कांग्रेस नेताओं पर क्यों नहीं चलाते ‘राष्ट्रदोह’ का मुकदमा ?

 

Related posts

Share
Share