You are here

BJP सांसद बोले महाराष्ट्र की BJP सरकार के तीन सालों में किसानों की आत्महत्याएं बढ़ी हैं

नई दिल्ली/महाराष्ट्र, नेशनल जनमत ब्यूरो।

बीजेपी के विकास की पोल अब दिनों दिन खुलती जा रही है। ये पोल कोई और नहीं बीजेपी के सांसद ही खोल रहे हैं। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खरी खोटी सुनाने वाले बीजेपी सांसद नाना पटोले ने अब महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फणनवीस पर करारा हमला बोला है।

विदर्भ के भंडारा-गोंडिया लोक सभा सीट से पहली बार सांसद बने बीजेपी सांसद नाना पटोले का कहना है महाराष्ट्र की मौजूदा देवेंद्र फणनवीस सरकार के तीन साल के कार्यकाल में किसानों की आत्महत्या में लगातार बढोतरी हुई है।

बीजेपी सांसद ने राज्य के मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि लोग सत्ता में आने के बाद अपना नज़रिया बदल देते हैं। महाराष्ट्र के सीएम मेरे अच्छे दोस्त हैं, मुझे इस बात पर फक्र है कि वह शीर्ष पर हैं।

वहीं जब कोई अपना दोस्त गलती करता है तो उसे बताना मैं अपना कर्तव्य मानता हूं। मुख्यमंत्री को नसीहत देते हुए नाना पटोले ने कहा, सीएम को सुधार और लोगों की भलाई के लिए काम करना चाहिए।

बीजीपी सांसद ने कहा, महाराष्ट्र में पहले से भी किसान आत्महत्या करते रहे हैं लेकिन पिछले तीन वर्षों में राज्य में किसानों की आत्महत्या के ज्यादा मामले हुए हैं।

नाना पटोले ने विपक्ष के द्वारा किसानों की कर्ज माफी का समर्थन किया। उन्होंने कहा, कि राज्य सरकार द्वारा बनाई गई कर्ज माफी प्रक्रिया सही नहीं है। बीजेपी सांसद ने ऑनलाइन कर्ज माफी के आवेदन करने की प्रक्रिया पर भी सवालिया निशान उठाए।

13 सितंबर को सीएम फणनवीस से हुई एक मुलाकात में उन्होंने राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल के असंवेदनशील बयान पर चर्चा की जिसमें उन्होंने कहा था कि कर्ज माफी के आवेदन में लगभग 10 लाख फ़र्ज़ी आवेदन आए हैं।

उन्होंने राजस्व मंत्री के बयान को आड़े हाथों लेते हुए कहा, एक मंत्री ऐसा गैरजिम्मेदाराना और निराधार टिप्पणी कैसे कर सकता है? कर्ज माफी के लिए उनका सरकारी ऑनलाइन पोर्टल आवेदन स्वीकार कर रहा है, फर्जी दावेदार आवेदन कैसे कर सकते थे।

आपको बता दें हाल ही में बीजेपी सांसद नाना पटोले ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया था कि वह विकास से संबंधित प्रश्न पूछने पर नाराज होते हैं। बीजेपी सांसद ने कहा एक बार उन्होंने पीएम मोदी से विकास से संबंधित कुछ प्रश्न किए तो पीएम नाराज हो गए और उनसे चुप रहने को कहा।

हालंकि पटोले ने अब उस बयान से पल्ला झाड़ लिया है। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि पीए सबके प्रश्न सुनते हैं। उन्होंने आगे कहा, बहुत सारी योजनाएं राज्य और केंद्र सरकार के आपसी तालमेल के कारण रुकी हैं।

संयुक्त राष्ट्र संघ ने गाय के नाम पर हिंसा और पत्रकारों की हत्या पर पीएम मोदी की आलोचना की

शिवराज का रामराज: प्राइमरी शिक्षक महेन्द्र यादव निलंबित, आरोप-खुले में शौच

आप लिपटे रहिए धर्म की चासनी में, यहां देश में पहली बार जाति के नाम पर बन गया ‘ब्राह्मण आयोग’

जापानी PM से गुजरात के विकास मॉडल की हकीकत छुपाने के लिए, झुग्गी-झोपड़ी को कपड़े से ढका गया

योगी का रामराज: सोशल मीडिया पर विचारों से डरी भगवा सरकार ने, एक दलित शिक्षक को किया निलंबित

Related posts

Share
Share