You are here

BJP सांसद के पुत्र को दारोगा ने जड़ा थप्पड़ तब भाजपाईयों को आई गरीब के साथ हो रहे सलूक की याद

नई दिल्ली/फर्रुखाबाद। नेशनल जनमत ब्यूरो 

उत्तर प्रदेश में पुलिस वालों पर वर्दी का नशा इस कदर हावी है कि उनके सामने आम आदमी क्या, सांसद पुत्र ही क्यों ना हों रौब गालिब करने के लिए पीटना है तो पीटना है। अभी कुछ ही दिन पहले यूपी के बीजेपी सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलकर अपने मन का दर्द बयां किया था कि अधिकारी उनकी सुन नहीं रहे मंत्री उनके काम नहीं कर रहे जनता विधायकों, सांसदों का मजाक उड़ा रही है।

इस घटना में हमारा उद्देश्य किसी को सही या गलत ठहराना नहीं बस इतना कहना है कि जब बीजेपी के सत्ता में रहते हुए भी एक सांसद पुत्र को बिना वजह थप्पड़ मारने में पुलिस ने गुरेज नहीं किया तो जनप्रतिनिधियों और नीति नियंताओं को सोचना होगा कि आम आदमी के साथ कैसा सलूक करते होंगे थाने में बैठे वर्दीधारी।

इसे भी पढ़ें-गोरखपुर दंगा मामले में CM आदित्यनाथ को झटका, हाईकोर्ट ने मुकदमा चलाने की याचिका स्वीकार की

फर्रुखाबाद के सांसद मुकेश राजपूत के पुत्र का मामला- 

यूपी के फर्रूखाबाद से बीजेपी सांसद मुकेश राजपूत के पुत्र अमित राजपूत को दारोगा ने जरा सा विवाद होने पर थप्पड़ जड़ दिया। जिसकी जानकारी होने पर बीजेपी नेता आक्रोशित हो गए| घटना की सूचना पुलिस कप्तान को दी गई। सांसद के आवास पर भाजपाईययों के जमावड़े की खबर पर मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक और सीओ को आना पड़ा।

अमित राजपूत ने बताया कि थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के रमन्ना गुलजारबाग में उनका विद्यालय बन रहा है। वहां जेसीबी ले जानी थी। जेसीबी ड्राइवर को रास्ता नही पता था। जिससे अमित राजपूत जेसीबी के आगे-आगे उसको रास्ता बताने के लिए चल रहे थे।

जब वह फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन के निकट वाल्मीकि मंदिर पंहुचे तो सामने से आ रहे थाना मऊदरवाजा के बजरिया चौकी इंचार्ज मो० आसिफ की गाड़ी में उनका कुर्ता फंस गया। जिससे अमित सड़क पर गिर गये। इस बात से अमित की दरोगा से कहा-सुनी हो गयी।

इसे भी पढ़ें-BJP एक भ्रष्टाचार निवारण मशीन है, जो भी भ्रष्ट नेता इसमें गया वो MEDIA की निगाह में पवित्र हो गया

अमित का कहना है कि उसने दरोगा को बताया भी कि वो सांसद मुकेश राजपूत का पुत्र है लेकिन दरोगा अपनी वर्दी के रौब में था। उसने अमित के थप्पड़ जड़ दिया और मारपीट करने के बाद दरोगा मौके से चला गया| अमित ने मामले की सूचना घर पर दी।

सूचना मिलने पर सांसद के ठंडी सड़क आवास पर बीजेपी नेताओं की भीड़ एकत्रित हो गयी। पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार, जिला महामंत्री विमल कटियार, शैलेन्द्र सिंह राठौर, मोहन अग्रवाल, राजकुमार वर्मा, राहुल जैन समेत तमाम भाजपाई इकट्ठे हो गए।

इसके बाद मौके पर पहुंचकर एसएसपी  एएसपी त्रिभुवन सिंह व सीओ सिटी ने घटना स्थल पर जाकर जाँच पड़ताल की और दारोगा को फिलहाल के लिए लाइन हाजिर कर दिया।

इसे भी पढ़ें-जातिवाद: UP के नौकरशाहों की ट्रांसफर-पोस्टिंग की जिम्मेदारी सिर्फ ब्राह्मण ऑफीसर्स के हवाले !

मुकगमा दर्ज करने की बात पर सीओ सिटी ने बताया कि जाँच की जा रही है | जाँच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Related posts

Share
Share