You are here

आजम खान का मजाक उड़ाने वाली BJP के विधायक जी की भैंसे ढूंढ़ने में जुटी UP पुलिस, लोग बोले CBI लगा दो

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

समाजवादी पार्टी की सरकार में ताकतवर मंत्री रहे आजम खान की भैंस चोरी होने के बाद रामपुर जिले का पूरा प्रशासनिक अमला भैंस ढूंढने में जुट गया था। इस बात पर बीजेपी नेताओं ने सपा सरकार का जमकर मजाक उड़ाया था।

अब इसी तरह का मामला बीजेपी विधायक के साथ भी सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर लोग पवित्र पार्टी का जमकर मजाक उड़ा रहे हैं। मामला उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले की हरगांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुरेश राही का है।

बीजेपी विधायक सुरेश राही की भैंसे चोरी हुई हैं। विधायक ने अपने फार्म हाउस से दो भैंसों की चोरी होने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई  है। पुलिस ने केस दर्ज कर नेताजी की भैंसों को ढूंढने के लिए जांच शुरु कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चोरी हुई सुरेश राही की भैंसों की कीमत करीब एक लाख रुपए बताई गई है। पंचमपुरवा गांव के पास विधायक सुरेश राही का फार्म हाउस है जहां पर चौकीदार और कुछ खेती से जुड़े मजदूर रहते हैं। इस फार्म हाउस में खेती से जुड़े सामान और कई मवेशी भी रहते हैं।

बीजेपी के नेता की चोरी हुई भैंसों को पुलिस द्वारा ढूंढने की बात सामने आने के बाद लोग पार्टी का जमकर मजाकर उड़ा रहे हैं। इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए एक ट्विटर यूजर ने लिखा अब तो गाय और भैंस की ही कद्र है, हम-आप तो बस केवल भाषण तक सीमित रह गए हैं।

एक ने लिखा इस मामले की तो सीबीआई जांच होनी चाहिए। एक ने लिखा आजम खान की भैंस चोरी हुई तो मोदी एंड कम्पनी ने जी भरकर मजाक उड़ाया था, अब सबके मुंह पर टेप लगी है भाई।

एक ने लिखा पहले आजम खान की भैंस को ढूंढती थी, अब सुरेश राही की, योगी आदित्य नाथ जी बदलाव कहां आया है। एक ने लिखा यूपी पुलिस भैंसों को ढूंढने में लगी है, यूपी का क्राइम रेट दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।

नॉनसेंस पार्टी यूपी में राज कर रही हैं तो इस प्रकार की घटनाएं सामने आती रहेंगी। एक ने लिखा आजम खान की याद दिला दी। वहीं एक और यूजर ने लिखा इनको आजम खान का दोस्त होना चाहिए।

शिवराज का जंगलराज: रीवा पुलिस की गुंडई का शिकार इंजी. मनीष पटेल जिंदगी-मौत के बीच कर रहा संघर्ष, तनाव

उत्तरी गुजरात के गांवों में रहने वाले पाटीदारों का गुस्सा बिगाड़ सकता है मोदी खेमे का खेल

निकाय चुनाव बाद EVM पर फिर उठे सवाल, प्रत्याशी बोलीं मेरा खुद का वोट मुझे कैसे नहीं मिला ?

पद्मावती को ‘राष्ट्रमाता’ का दर्जा देने वाले क्रांतिवीर CM, आत्मदाह करने वाली महिला की मौत पर चुप क्यों हैं?

BHU के द्रोणाचार्यों शर्म करो, एकलव्यों का अंगूठा काटना बंद करो’, PhD प्रवेश प्रक्रिया के खिलाफ फूटा गुस्सा

 

Related posts

Share
Share