You are here

कैबिनेट फेरबदल पर लालू यादव ने ली चुटकी, बोले नरेन्द्र मोदी ने नीतीश को कोई भाव नहीं दिया

नई दिल्ली/पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो। 

नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में जगह नहीं दिए जाने पर लालू यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं कर रही है. नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार को ठेंगा दिखा दिया है. लालू ने कहा कि ये तो नीतीश कुमार खुद ही मीडिया के सामने स्‍वीकार रहे हैं कि मंत्री पद के लिए हमसे कोई चर्चा नहीं हुई है.

इन्‍होंने खुद स्‍वीकारा कि उन्‍हें नरेंद्र मोदी ने कोई भाव नहीं दिया है. एक न्‍यूज एजेंसी से बातचीत में लालू ने नीतीश कुमार की तुलना उस बंदर से की जिसे गाछ से गिरने के बाद बंदर भी अपने समूह में शामिल नहीं करता है.

लालू प्रसाद ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि यहां जो इज्‍जत थी, जो प्रतिष्‍ठा थी वह वहां नहीं मिलने वाली. लालू ने कहा कि जो बंदर समूह में रहते हुए गाछ पर से गिर जाता है उसे फिर से गिरोह में नहीं मिलाया जाता है. ये छटुआ बंदर के रूप में हैं.

लालू ने कहा कि दो मंत्री मिल रहा था या एक मंत्री नहीं मिल रहा था ये बात नहीं है. मंत्री नहीं बनाए जाने के पीछे की असली वजह कुछ और है जो सिर्फ हमें पता है. यह बात मीडिया वाले नहीं जानते हैं. नीतीश कुमार कांग्रेस पार्टी को तोड़ने में लगे हैं.

इनके स्‍पीकर यहां बैठे हुए हैं. विधायकों से डील हो रही है. मंत्री बनाए जाने का आश्‍वासन दिया गया है. लालू ने बताया कि नीतीश के पास 71 विधायक हैं और कांग्रेस के 27 विधायक पर निशाना साध रहे हैं।

लालू ने कहा कि नीतीश कुमार को डर है कि उनकी पार्टी टूट जाएगी. बीजेपी पर ये भरोसा नहीं कर पा रहे हैं और बीजेपी भी नीतीश पर भरोसा नहीं कर रही है. नीतीश कुमार दो नाव की सवारी कर रहे हैं.

ये अपनी ही चालाकी में फंस गए हैं. दो नाव पर चलना और टांग फट कर मरना. लालू ने कहा कि यहां ये असली खेल चल रहा है. नीतीश कुमार कभी भी पलट जाएगा. ये पलटू है. ये अपना बहुमत का जुगाड़ करने में लगे हुए हैं.

कैबिनेट विस्तार में शिवसेना और जेडीयू से किसी को भी मंत्री पद नहीं दिया गया। कैबिनेट विस्तार में केवल बीजेपी के मंत्रियों को ही शामिल किया गया है।

ये है नया मंत्रिमंडल- 

कैबिनेट– धर्मेंद्र प्रधान- कौशल विकास व पेट्रोलियम मंत्रालय, पीयूष गोयल- रेल मंत्रालय, निर्मला सीतारमण- रक्षा मंत्रालय, मुख्तार अब्बास नक़वी- अल्पसंख्यक मंत्रालय, सुरेश प्रभु- वाणिज्य मंत्रालय, स्मृति ईरानी- सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, नितिन गडकरी- जल संसाधन मंत्रालय, उमा भारती-पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

राज्यमंत्री के बतौर शामिल- शिव प्रताप शुक्ला – वित्त राज्यमंत्री, अश्विनी कुमार चौबे- स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री, वीरेंद्र कुमार- महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री, अनंत कुमार हेगड़े- कौशल विकास राज्यमंत्री, राजकुमार सिंह- ऊर्जा एवं नवीकरणीय एवं अक्षय ऊर्जा मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार). हरदीप सिंह पुरी- आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार) गजेंद्र सिंह शेखावत- कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय सत्यपाल सिंह-एचआरडी मंत्रालय और अल्फ़ोंस कन्ननथनम को पर्यटन मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार) की जिम्मेदारी दी गई है।

Related posts

Share
Share