You are here

सीएम योगी के खिलाफ महिला ने दर्ज कराया केस, महिला की न्यूड तस्वीर वायरल करने का आरोप

लखनऊ/असम। नेशनल जनमत ब्यूरो

असम की एक आदिवासी महिला ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और असम लोकसभा सांसद राम प्रसाद सरमा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। महिला ने दोनों नेताओं पर 10 साल पहले एक प्रदर्शन के दौरान ली गई अपनी नग्न तस्वीरों को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने का आरोप लगाया। इस आरोप को लेकर महिला ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है।

इसे भी पढ़ें-जस्टिस कर्णन की गिरफ्तारी के बाद छिड़ी बहस, देश क्या आज भी मनु की मनुस्मृति के चल रहा है

क्या है मामला- 

खबर के अनुसार महिला का नाम लक्ष्मी ओरंग है. महिला ने भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत सब डिवीजनल न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में शिकायत दर्ज की है। महिला ने आरोप लगाया कि 24 नवंबर 2007 को गुवाहाटी के बेलटोला में अखिल असम आदिवासी छात्र संघ के आंदोलन के दौरान ली गई उसकी न्यूड फोटो को योगी आदित्यनाथ ने 13 जून को अपने सोशल मीडिया पेज पर पोस्ट किया था। इसके साथ ही उसने सांसद राम प्रसाद सरमा के खिलाफ फोटो शेयर करने को लेकर भी मामला दर्ज कराया है।

इसे भी पढ़ें- मोदीजी के स्वच्छ भारत अभियान को खुली चुनौती, ठाकुर लेते बैं दलितों से खेत में शौच करने का टैक्स

कई मामले दर्ज हैं सीएम पर- 

इससे पहले भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कई केस दर्ज हुए हैं। उन पर धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच सद्भाव बिगाड़ने के मामले में आईपीसी की धारा 153ए के तहत दो मामले दर्ज किए गए थे। आईपीसी की धारा 295 के तहत भी दो मामले दर्ज हैं। इसके साथ ही सीएम योगी के खिलाफ आईपीसी की धारा 506, धारा 307, धारा 147, धारा 336, धारा 149, धारा 504 के तहत भी कई केस दर्ज हैं। सभी मामले लोकसभा चुनाव 2014 में दिए गए उनके हलफनामें में दर्ज हैं। हालांकि कितने मामले इनमें से खत्म हुए या बंद हुए। यह जानकारी अभी उपलब्ध नहीं हो पाई है।

 

Related posts

Share
Share