You are here

जातिवादी समाज में प्रेम की सजा : लड़के को बेरहमी से पीटा, बाल उखाड़े, नाखूनों से नोंचा

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

राजस्थान में प्रेम प्रसंग के एक मामले में युवती से मिलने गए युवक को बेरहमी से पीटा गया. ना सिर्फ उसके कपड़े उतरवा दिए गए बल्कि युवक के बाल उखाड़े गए उसके शरीर को नाखूनों से खरोंचा गया. इतना ही नहीं इस बेरहमी का वीडियो भी बनाया गया. इस घटना को सामाजिक विश्लेषक जातिवादी समाज की उपज बता रहे हैं. लोगों का कहना है कि इस देश में गैर जाति में प्रेम करना या विवाह करना सबसे बड़ा गुनाह है.

राजस्थान के चूरू का है मामला- 

राजस्थान के चूरू के गांव ढाणी मोतीसिंह में प्रेम प्रसंग को लेकर एक युवक से बेरहमी से मारपीट करने का मामला थाने में दर्ज किया गया है. पुलिस के मुताबिक चूरू तहसील के गांव लोहसना बड़ा निवासी राजकुमार ने दूधवाखारा रेलवे स्टेशन के पास फोटो स्टूडियो खोल रखा है. एक साल पहले राजकुमार टमकोर के एक निजी स्कूल में फोटोग्राफी करने गया था. वहां स्कूल में पढ़ रही गांव ढाणी मोतीसिंह निवासी युवती से राजकुमार की मुलाकात हुई.

इसे भी पढ़ें- चर्चित हो गई यादव जी की सामाजिक न्याय वाली शादी, बारातियों में बंटी गुलामगिरी और संविधान

प्रेम के चलते युवती राजकुमार से मिलने उसके स्टूडियो पर आती-जाती रहती थी. एक साल से दोनों में प्रेम-प्रसंग चल रहा था. 1 जून 2017 को युवती ने फोन कर राजकुमार को गांव ढाणी मोतीसिंह बुलाया. युवती द्वारा आत्महत्या की धमकी देने पर वह उसके गांव पहुंच भी गया. युवती के घरवालों को इसका पता लगा तो उन्होंने राजकुमार को बंधक बना लिया. उसकी बेरहमी से पिटाई की.  युवती के परिजनों ने राजकुमार के कपड़े उतारकर उसके बाल उखाड़ दिए व नाखून से भी नोंचा.

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो- 

प्रेम प्रसंग के मामले में बेरहमी से की गई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया है। राजकुमार के परिजनों को जब घटना की जानकारी मिली तो उसके भाई भंवरलाल ने आठ जून को तारानगर थाने पहुंचकर युवती के परिजनों के खिलाफ षडय़ंत्र रचकर बंधक बनाकर राजकुमार से बेरहमी से मारपीट करने का मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इसे भी पढ़ें- पटना नगर निगम चुनाव में भूमिहार-ब्राह्मणों का सफाया, कुर्मी-कोयरी-यादव समेत ओबीसी का जलवा

युवती देती थी आत्महत्या की चेतावनी- 

राजकुमार के भाई भंवरलाल ने बताया कि युवती फोन करके उसके भाई राजकुमार पर दबाव डालती थी. फोन नहीं करने पर अक्सर वह राजकुमार को आत्महत्या करने की भी धमकी देती थी.  प्रेम प्रंसग के चलते करीब छह माह पहले उक्त युवती ने जहर खाकर आत्महत्या करने का भी प्रयास किया था.

सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना- 

इसे भी पढ़ें- जन्मजात श्रेष्ठता का दम तोड़ती है देश के सफल कोचिंग संस्थान के फाउंडर की सफलता की कहानी

इस बारे में राजस्थान के स्वतंत्र पत्रकार और युवा सामाजिक कार्यकर्ता जितेन्द्र महला अपनी फेसबुक वॉल पर लिखते हैं कि-

राजस्थान के मेघवाल समुदाय का राजकुमार सहारण के साथ हुए अन्याय पर क्या कहना है ? मेघवाल समुदाय इंसानियत के साथ है या अपनी जाति के साथ ? सोती, बुडाना के मामले में हमारी जितनी क्षमता थी हमने विरोध दर्ज कराया था. आप भी राजकुमार सहारण के साथ खड़ें हो और हिंसा और अन्याय के विरुद्ध हर संभव विरोध दर्ज कराएं. यहीं इंसानियत है, न्याय है. बुद्ध, बाबा साहेब और छोटूराम को मानने वालों को इंसानियत, शांति, अहिंसा, प्रेम, लोकतंत्र, कानून और संविधान का सम्मान करना चाहिए

इसे भी पढ़ें- जानिए RSS की उपज शिवकुमार शर्मा को क्यों किसानों का मसीहा बनाने पर तुली है मीडिया

सोचने वाली बात ये है कि हम आखिर किस समााज में जी रहे हैं…जहां प्रेम करने पर जानवरों की तरह मारने पीटने का रिवाज है. अगर आपको आपत्ति है तो पुलिस और कानून व्यवस्था का सहारा लीजिए. खुद से इस तरह के अमानवीय कृत्य को अंजाम देना कतई सही नहीं.

Related posts

Share
Share