You are here

बिहार: भ्रष्टाचार से पीड़ित जिले को आखिर क्यों बर्दाश्त नहीं हुए ईमानदार DM अवनीश कुमार सिंह ?

नई दिल्ली/पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो  बिहार की उपराजधानी कहा जानेवाला भागलपुर इन दिनों 1200 करोड़ से भी ज्यादा के सृजन महाघोटाले को लेक देशभर में चर्चा का विषय बना हुआ है। एक के बाद एक जिले के हरेक सरकारी विभाग के इस महाघोटाले में शामिल होने की बात सामने आ रही है। एेसे में प्रशासन की नींद उड़ी हुई है।…

Read More

सामाजिक न्याय के परिप्रेक्ष्य में महामना रामस्वरूप वर्मा का जीवन दर्शन और अर्जक संघ भाग-1

नई दिल्ली। अनूप पटेल (नेशनल जनमत ब्यूरो)  जिसमे समता की चाह नहीं, वह बढ़िया इंसान नहीं. समता बिनु समाज नहीं, बिनु समाज जनराज नहीं. ऊपर की दो पंक्तियों से बढ़कर भारतीय लोकतंत्र की व्याख्या नहीं हो सकती. लोकतंत्र के लिये प्रथम आवश्यक शर्त है- मनुष्य में समता का भाव. समता के बिना समाज नहीं बन सकता. समाज = सम+आज अर्थात…

Read More

JNU में आज रात ‘मनुस्मृति दहन’ करके महामना रामस्वरूप वर्मा को याद करेंगे सामाजिक न्याय के साथी

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो  अर्जक संघ के संस्थापक महामना रामस्वरूप वर्मा का मानना था कि सामाजिक चेतना से ही सामाजिक परिवर्तन होगा, सामाजिक परिवर्तन के बगैर राजनैतिक परिवर्तन सम्भव नहीं। अगर येन केन प्रकारेेण राजनैतिक परिवर्तन हो भी गया तो वह ज्यादा दिनों तक टिकने वाला नहीं होगा। रामस्वरूप वर्मा सामाजिक सुधार के पक्षधर नहीं थे, वे सामाजिक परिवर्तन…

Read More

महामना रामस्वरूप वर्मा पोगापंथी के खिलाफ जंग छेड़ने वाले मानवतावादी-तार्किकतावादी राजनेता थे

नई दिल्ली। नीरज भाई पटेल ( नेशनल जनमत ब्यूरो )  उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात जिले की राजपुर विधानसभा से 7 बार विधायक और चौधरी चरण सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल में वित्त मंत्री रहे रामस्वरूप वर्मा उत्तर प्रदेश के इतिहास में एकमात्र उदाहरण हैं जिन्होंने फायदे का बजट पेश किया था। ब्राह्मणवाद के सवाल पर डा. राम मनोहर लोहिया तक…

Read More

अगर ‘बलात्कार’ शब्द से आपका खून खौलता है, तो पढ़िए वीरांगना फूलन देवी पर लिखी ये कविता…

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो विश्व की प्रतिष्ठित मैगजीन टाइम ने दो बार सांसद रहीं फूलन देवी को विश्व की सर्वश्रेष्ठ विद्रोहिणी की श्रेणी में प्रमुखता से स्थान दिया था. देश से इस श्रेणी में ये एकमात्र नाम था. आज फूलन देवी हमारे बीच में नहीं है लेकिन अत्याचार का बदला लेने के लिए उठाए गए कदम को लोग आज…

Read More

उनसे कह दो कि अभी डरे नहीं हैं हम, हारे हैं जरूर मगर मरे नहीं हैं हम…सूरज कुमार बौद्ध की कविता

नई दिल्ली। नेशनल  जनमत ब्यूरो  सत्ता की नाव पर सवार होकर जब कोई तानाशाह सच पर पाबंदी लगाता है तो उसके खिलाफ विद्रोही चेहरों का सामने आना जरूरी हो जाता है। क्योंकि जब भी किसी को एक हद से ज्यादा डराया जाता है तो उसके दिल में किसी का खौफ खत्म हो जाता है। ऐसे ही एक क्रांतिकारी चेहरे का…

Read More

जातिवाद से भरे होते ठाकुर अर्जुन सिंह तो आत्मसमर्पण से पहले ही मार दिया जाता वीरांगना फूलन को !

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो  समाज में नफरत के बीज बोकर अपनी राजनीति चमकाने वाले कुछ लोग वीरांगना फूलन देवी द्वारा 20 बलात्कारियों की हत्या को ठाकुर आत्मसम्मान से जोड़ते हैं। ऐसे लोगों को जातिगत नफरत से भरे फूलन देवी के हत्यारे शेर सिंह राणा को हिन्दु हृदय सम्राट बनाने में जरा भी संकोच नही होता है। जबकि हकीकत में…

Read More

भाषा विज्ञानी व बौद्ध परंपरा के विद्वान डॉ. राजेन्द्र प्रसाद सिंह को मिला साहित्य सम्मान

नई दिल्ली/पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो  मगही और हिंदी भाषा के विकास में महत्वपूर्ण योगदान के लिए मगही और भोजपुरी के साहित्यकार, बौद्ध दार्शनिक, अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त भाषा वैज्ञानिक डॉ. राजेंद्र प्रसाद सिंह और राजकुमार प्रेमी को सोमवार को पटना में डॉ. राम प्रसाद सिंह साहित्य सम्मान से सम्मानित किया गया। पटना के कॉलेज ऑफ कॉमर्स, आर्ट्स एंड साइंस में मगही…

Read More

लालू यादव को मोदी-शाह का अहंकार तोड़ना है तो सीना ठोककर बनना होगा भारत का जैकब जुमा

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो  आरजेडी अध्यक्ष और सामाजिक न्याय की बुलंद आवाज लालू प्रसाद यादव पर केन्द्र सरकार के इशारे पर हो रही सरकारी तंत्र की कार्रवाई का सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक लोग विरोध कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ हम साथ हैं लेकिन भ्रष्टाचार के नाम पर सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग…

Read More

नीतीश कुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले पर सुप्रीम कोर्ट ने ठोका 1 लाख का जुर्माना

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रशंसकों के लिए अच्छी और गर्व करने वाली खबर है। सुप्रीम कोर्ट में एक याचिकाकर्ता ने पीआईएल दाखिल कर नीतीश कुमार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को फिजूल का बताते हुए याचिकाकर्ता पर ही 1 लाख का जुर्माना ठोक दिया। इसे भी पढ़ें-उच्चकोटि के…

Read More
1 2 3 4 7
Share
Share