You are here

पुलिस का खुलासा, 300 गायों को मारने का आरोपी BJP नेता, गाय का चमड़ा और हड्डी भी बेचता था

नई दिल्ली/रायपुर, नेशनल जनमत ब्यूरो।

छत्तीसगढ़ में बीजेपी नेता की गौशाला में भूख के चलते गायों की मौत पर आखिर पुलिस ने चुप्पी तोड़ ही दी। पुलिस के मुताबिक, मृत गायों के शवों को नियमित कसाइयों को बेचा गया है। इतना ही नहीं आरोपी बीजेनी नेता गायों के चमड़े और हड्डियों का व्यापार भी करता था।

छत्तीसगढ़ के बीजेपी नेता हरीश वर्मा की गौशालाओं में पिछले दिनों तीन सौ गायों की भूख के चलते मौत हो गई थी। बीजेपी लीडर के खिलाफ मरी गायों को कसाइयों को बेचने की शिकायत राज्य के गौसेवा आयोग ने की।

पुलिस अधिकारी दीपांशू काबरा ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा, राज्य के गौसेवा द्वारा लगाए गए आरोप सही हैं जिसमें कुछ लोगों ने मृत गायों के शवों को कसाइयों को बेचने का आरोप लगाया था।

बीजेपी लीडर हरीश वर्मा की तीन गौशालाओं में भूख और दवाइयों के अभाव में बड़ी तादाद में गायों की मौत हो गई थी। जिसके बाद बीजेपी ने उसे पार्टी से सस्पेंड कर दिया। वहीं 18 अगस्त को हरीश वर्मा को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया था।

पुलिस के मुताबिक, बीजेपी नेता हरीश वर्मा की शगुन, फूलचंद्र, और मयूरी नाम से तीन गौशालाएं हैं। जिनमें एक दुर्ग में बाकी दो गौशालाएं बेमेतारा जिले में है। तीनों गौशालाओं को गौ सेवा आयोग की तरफ से देखभाल करने के लिए वित्तीय सहायता मुहैया कराई जाती है।

गायों की मौत पर बीजेपी नेता ने सरकार द्वारा दी जाने वाली ग्रांट पर सवालिया निशान उठाया था। वहीं गौसेवा आयोग की तरफ से दायर की गई एफआईआर में कहा गया, 2015 में स्थापित की गई उनकी मयूरी गौशाला को 22.64 लाख रूपये, फूलचंद्र गौशाला जिसकी स्थापना 2014 में हुई 50 लाख रुपये, वहीं 2011 में स्थापित शगुन गौशाला को 93 लाख रूपये आवंटित किए गए थे।

गौसेवा आयोग ने हरीश वर्मा पर आरोप लगाते हुए कहा कि गौशाला बनाने के लिए धन का इस्तेमाल नहीं किया गया। पुलिस गायों को जानबूझ कर भूख से मारे जाने के कारणो का पता लगा रही है। वहीं गायों की मौत पर बीजेपी नेता का कहना है कि उनकी मौत दीवार ढह जाने के कारण हुई।

हरीश वर्मा इन दिनों पुलिस कस्टडी में हैं जिनके खिलाफ छ्त्तीसगढ़ एग्रीकल्चर कैटिल प्रेज़रवेशन एक्ट 2004, प्रिवेंशन ऑफ क्रुएलिटी टू एनीमल एक्ट 1960 और आईपीसी की धारा 409 के तहत मामले दायर किए गए हैं।

Related posts

Share
Share