You are here

यूपी में खत्म हो गया बर्दी का खौफ दिनदहाड़े डकैत ने सरकारी काम रुकवाया, मुनीम को पीटा

लखनऊ। नेशनल जनमत ब्यूरो

सत्ता पर काबिज भगवा ब्रिगेड की सरकार को राम राज्य की बात करने के वादे व दम्भ पर छुटभैये से लेकर बड़े अपराधी मुंह चिढ़ा रहे हैं. हाल है कि कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब उत्तर प्रदेश मेंं कोई बड़ी वारदात न हुई हो.ताजा मामला चित्रकूट का है जहां डकैत बबूली कोल ने सरकारी काम रुकवाकर दिन दहाड़े रंगदारी मांगकर सरकार को सीधे चुनौती दी है.

डीजीपी की ईमानदारी काम नहीं आ रही-

प्रदेश का कोई भी कोना अपराध व अपराधियों के नापाक मंसूबों से अछूता नहीं रह गया है। बीहड़ में दहशत का साम्राज्य कायम कर चुके कुख्यात दस्यु गैंग दिन दहाड़े सरकारी कार्य रुकवा देते हैं। मारपीट कर और घटना की जानकारी के बाद पुलिस का वही घिसा पिटा कथन कि गैंग की तलाश में कॉम्बिंग जारी है।

इसे भी पढ़ें-अमेजॉन द्वारा महिला को प्रोडक्ट बनाने पर महिलाओं से तीखा सवाल करती एक कविता

दरअसल ख़ाकी का मुखबिर तंत्र ही कमजोर है, बौना हो चुका है, तभी दिन दहाड़े दस्यु गैंग वारदात को अंजाम देकर बीहड़ में विलीन हो जाते हैं। यूपी की लचर कानून व्यवस्था को लेकर सिर्फ बयानबाजी के तीर छोडऩे वाले यूपी सीएम योगी व डीजीपी सुलखान की पुलिस कहीं न कहीं फिसड्डी साबित हो रही है। यह कहना शायद गलत नहीं होगा।

दिनदहाड़े सरकार को चुनौती दे गया डकैत- 

ताजा मामला जनपद के मानिकपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत सकरौंहा गांव का है. जहां बुंदेलखण्ड पैकेज के तहत हो रहे कूप निर्माण कार्य के स्थल पर धावा बोलकर सात लाख के इनामी डकैत बबुली कोल ने मुनीम को जमकर पीटा व लाखों रुपये कमीशन देने की धमकी देते हुए कार्य को रुकवा दिया। डरे सहमे मजदूर काम छोड़कर भाग गए जबकि बुरी तरह पिटाई से घायल मुनीम ने खौफज़दा होते हुए पुलिस को सूचना दी।

इसे भी पढ़ें- शहरी ऐशोआराम को छोड़कर बिहार में मुखिया बन गई आईएएस की पत्नी ऋतु जायसवाल

सकरौंहा गांव में बुन्देलखण्ड पैकेज वर्ष 2013-14 के तहत जल संचयन के लिए एक किसान के खेत में कूप निर्माण का कार्य हो रहा है। आम दिनों की तरह मजदूर तल्लीनता से कार्य में जुटे थे कि उसी समय सात लाख का इनामी कुख्यात डकैत बबुली कोल अपनी गैंग के साथ आ धमका और मजदूरों सहित ठेकेदार के मेठ को पीटने लगा। बुरी तरह से पीटने के बाद डकैत बबुली ने मेठ प्रमोद को धमकी दी कि यदि उसे लाखों रुपये कमीशन नहीं पहुंचाए गए तो अंजाम बुरा होगा। धमकी देते हुए दस्यु गैंग बीहड़ में गुम हो गया।

पुलिस का डर ही नहीं बदमाशों में –

पिटाई से दहशतजदा मजदूर काम छोड़कर भाग गए तो वहीं पिटाई से घायल दर्द से कराह रहे मेठ प्रमोद को ग्रामीणों ने अस्पताल में भर्ती कराया और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने गैंग की तलाश में कॉम्बिंग की लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। मानिकपुर थानाध्यक्ष ने बताया कि मेठ की तहरीर पर डकैत बबुली कोल तथा उसके गैंग के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। वहीं मजदूर काम करने को तैयार नहीं हैं। हालांकि पुलिस ने सुरक्षा का भरोसा दिलाया है लेकिन मजदूर यकीन नहीं कर पा रहे हैं। उन्हें डर है कि बबुली मौक़ा पाते ही फिर धावा बोलेगा।

इसे भी पढ़ें- क्या बलात्कार को बढ़ावा दे रहा है अमेजॉन का ये प्रोडक्ट, महिलाएं आक्रोशित

Related posts

Share
Share