You are here

अच्छे दिनः छत्तीसगढ़ में महीने भर का बिल 76.73 करोड़, सदमे में किसान

नई दिल्ली नेशनल जनमत ब्यूरो

बीजेपी की सरकार में किसी किसान का महीने भर का बिल करोड़ों में आ जाए तो लोग यकीन नहीं करेंगे। लेकिन ये सच है कि छत्तीसगढ़ में एक किसान का महीने भर का बिजली का बिल करोड़ों रुपये में आया है।

बात छ्त्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के एक गांव की है। जहां पर एक सीमांत किसान का महीने भर का बिजली का बिल 76.73 करोड़ आया है। इतना बिल देखकर किसान हक्का बक्का रह गया। बेचारा किसान सदमे में है। बतातें चले ये भारी भरकम बिजली का बिल सितंबर महीने का है।

सदमे में आए किसान राम प्रसाद का कहना है कि मैं सिर्फ बिजली का इस्तेमाल घरेलू उपयोग के लिए करता हूं। लेकिन मुझे बिजली कर्मचारियों ने 76.73 करोड़ रुपये का बिल थमाया है।

वहीं बिल पर बिलजी विभाग ने अपनी सफाई दी है। बिजली विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, राम प्रसाद के यहां बीते अगस्त में बिजली का मीटर बदला गया था उन्होंने इसे टेक्नीकल फॉल्ट बताया है।

विद्युत विभाग के एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक, राम प्रसाद के पुराने बिजली के मीटर की रीडिंग एंटर नहीं की गई थी जिसके चलते इतना बिल विभाग ने बताया है। अधिकारी ने आगे कहा कि बिजली बिल को दुबारा चेक करने के नियम हैं लेकिन इसके लिए वे अधिकारी दोषी हैं जिन्होंने दुबारा चेक नहीं किया।

सीनियर अधिकारी ने आगे कहा, इस मामले में लापरवाही बरतने वाले दो क्लर्क गरुड़ कुमार और दोज कुमार देवगन को सस्पेंड कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि राम प्रसाद को महीने भर के नए बिल का पर्चा दिया दे दिया गया है। जो 1,820 रुपये है।

वहीं इस मसले पर विपक्षी पार्टियों ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। 24 सितंबर से आयोजित हुए छ्त्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र में विपक्षी नेताओं ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार किसानों को लाखों में बिल भेज रही है।

फजीहत के बाद जागी योगी सरकार, CO-SO-ACM हटाए गए, अखिलेश बोले BHU में छिन गई बोलने की आजादी

जाट महासभा का ऐलान, ब्राह्मणवादी तीर्थ यात्रा बंद करेंगे, बीजेपी-कांग्रेस दोनों को ही वोट नहीं देगे

VC त्रिपाठी के राज में अश्लीलता का गढ़ बन गया BHU, पढ़िए एक छात्रा का शर्मसार कर देने वाला पत्र

BHU VC की तानाशाही: लाठीचार्ज के बाद, गर्ल्स हॉस्टल खाली कराकर, छात्राओं को जबरन घर भेजने का फरमान

BHU: ‘तुम रेप कराने के लिए रात में बाहर जाती हो’ क्या ऐसे कुलपति को बर्खास्त नहीं करना चाहिए PM मोदी को ?

Related posts

Share
Share